युवक ने लगायी फाँसी , प्रधान पर मामला दर्ज, आवास योजना में दबाव बनाने का आरोप

सालानपुर । सालानपुर थाना अंतर्गत सामडीह ग्राम पंचायत अंतर्गत बथानपाड़ा निवासी रोहित बाउरी(37) ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली, घटना को लेकर सामडीह पंचायत प्रधान जनार्धन मंडल(हाबू) पर आत्महत्या के लिए प्रेरित करने का मामला दर्ज होने के बाद शव को उठाया गया । उन पर आरोप है कि उन्होंने बांग्लार आवास योजना (प्रधानमंत्री आवास योजना) से मिले पैसे से मकान बनाने का दबाव दिया जिससे तंग आकर युवक ने आत्महत्या कर ली ।

घटना के सन्दर्भ में बताया जाता है कि सामडीह ग्राम पंचायत निवासी रोहित बाउरी पिता स्व० सनातन बाउरी को बांग्लार आवास योजना (प्रधानमंत्री आवास योजना) से आवास मिला था। बताया जाता है कि लाभुक को आवास के लिए प्रथम 45 हजार की राशि आवंटित कर दी गयी थी, जिस राशि से सिर्फ नींव ही खोदी गयी थी, जिसके बाद से ही पंचायत प्रधान जनार्दन मंडल की ओर से लाभुक पर आवास निर्माण के लिए दबाव बनाया जा रहा था। आरोप है कि इस दबाव से आहत होकर रोहित बाउरी ने आत्महत्या कर ली ।

पंचायत प्रधान पर योजना की राशि से हिस्सा मांगने का आरोप

इधर घटना की सूचना पाकर पहुँचे बाराबनी भाजपा कन्वेनर मोनू रॉय मृतक के घर पहुँचकर स्थानीय लोगों के साथ मिलकर पहाड़गोडा पुलिस को शव उठाने से रोक दिया और सामडीह पंचायत प्रधान के विरुद्ध मामला दर्ज करने के बाद ही शव उठाने की जिद पर अड़ गए। पुलिस द्वारा प्रधान के विरुद्ध मामला दर्ज होने के बाद शव उठाया गया ।

मामले को लेकर भाजपा नेता मोनू राय ने कहा कि आवास योजना से मिले राशि से प्रधान अपना हिस्से की मांग कर रहे थे। साथ ही इसके लिए प्रधान, पुलिस प्रशासन से भी रोहित को धमकी दिला रहे थे, जिससे बाध्य होकर उन्होंने आत्महत्या कर ली।

उन्होंने कहा कि क्या यही गरीब दर्दी और उन्नयन की सरकार है । मृतक अविवाहित था जो अपने विधवा बहन सारथि बाउरी और उसके पुत्र का मजदूरी कर पालन-पोषण करता था। उन्होंने कहा कि यदि प्रधान की गिरफ़्तारी और परिवार को मुआवजा नहीं मिलेगी तो वे लोग बाध्य होकर शव के साथ सड़क जाम करेंगे ।

प्रधान ने आरोप किया खारिज

दूसरी ओर पंचायत प्रधान जनार्दन मंडल से पूछने पर उन्होंने बताया कि 9 माह पहले ही लाभुक को 45 हजार रुपये का पहला क़िस्त दिया गया था जिस राशि से कोई भी काम नहीं किया गया था। रोहित को पंचायत द्वारा आवास निर्माण करने को कहा जा रहा था, जिसके बाद ही उन्हें दूसरी क़िस्त राशि मिलती आवास निर्माण के लिए पैसा मिला था, जिसके निर्माण करने को बोलना क्या गुनाह है।

उन्होंने कहा कि आत्महत्या का कोई और भी वजह हो सकती है। भाजपा अपनी लाश पर राजनीति कर रही है। मेरे पर लगाए जा रहे सभी आरोप निराधार हैं। इस दुःख की घड़ी में पूरा सामडीह पंचायत परिजनों के साथ है। पुलिस ने शव को जब्त कर अंत्यपरीक्षण के लिए आसनसोल स्थित जिला अस्पताल भेज दिया ।

Subscribe Our YouTube Channel for instant Video News Uploaded

Last updated: जून 12th, 2019 by Guljar Khan