सरकारी योजनाओं से जोड़ने के लिए, शिविर लगाकर दिब्यांगों को दिये गए प्रमाण पत्र

आसनसोल नगर निगम के वार्ड संख्या 89 के पार्षद आरिज जलेश के सहयोग से अंजुमन हॉल में दिब्यांगों शिविर लगाया गया। जिसमें 350 दिव्याड़्गो ने आकर शारीरिक जाँच करवाई। मुख्य रूप से उपस्थित आसनसोल नगर निगम के मेयर जितेंद्र तिवारी ने कहा कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री दिव्याड़्ग नागरिकों के लिए मनवीक योजना शुरू की है, इस योजना के तहत दिब्यांगों को प्रतिमाह 1000 रुपये की धनराशि पेंशन के रूप में प्रदान की जाएगी।

बहुत से लोगों के पास दिब्यांग प्रमाण पत्र नहीं होने के कारण वे इस योजना का लाभ नहीं उठा पा रहे हैं। इसलिए पार्षद आरिज जलेश ने यह बीड़ा उठाया एवं दिब्यांगों को प्रमाण पत्र प्रदान करने के लिए स्क्रीनिंग टेस्ट आज करवाया जा रहा है। जिसमें सरकारी अस्पताल के चिकित्सक शिविर में आए और लोगों की शारीरिक जाँच करके काफी जल्दी उन्हें पार्षद के हाथों दिब्यांग प्रमाण पत्र सौंपा जाएगा। ताकि वे योजना का लाभ ले पाए।

मेयर तिवारी ने कहा कि राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी जनता का पूरा ध्यान रखती है, कई योजनाओं की शुरूआत करके लाखों लोगों को रोजगार, स्वास्थ्य, शिक्षा ,एवं अन्य लाभ प्रदान किया जा रहा हैं। इस मौके पर बोरो चेयरपर्सन संगीता शारदा ने कहा कि इस तरह के शिविर का आयोजन होना काफी जरूरी था। बहुत से लोग आज भी दिव्याड़्ग प्रमाण पत्र लेने में असमर्थ है, ऐसे शिविर के माध्यम से उन्हें आसानी से प्रमाण पत्र प्रदान किया जाएगा।

पार्षद आरिज जलेश ने कहा कि इस कार्यक्रम में नगर निगम के मेयर ने काफी सहयोग किया है, आज भी रानीगंज के विभिन्न बस्ती इलाकों मैं कई दिव्याड़्ग लोग हैं, जिन्हें प्रमाण पत्र कैसे मिलता है, उसकी जानकारी नहीं है। इस तरह के शिविर के आयोजन में उन्हें घर से लाकर उनकी शारीरिक जाँच चिकित्सकों के द्वारा करवा कर उन्हें जल्द ही प्रमाण पत्र प्रदान किया जाएगा, ताकि वे लोग भी राज्य सरकार की योजना का लाभ उठा पाए।

अंजुमन इमदाद वहमी संस्था के मोहम्मद अनवर एवं इसराइल खान ने कहा कि पार्षद आरिज जलेश के सानिध्य में कैंप का आयोजन होना काफी सराहनीय बात है। इस मौके पर अंजुमन संस्था के हॉल में मेडिकल कैंप लगाया गया। जिसमें डॉक्टर बुलबुल सामनता, डॉक्टर एस.मांझी ने लोगों के स्वास्थ्य की जाँच की।

Subscribe Our YouTube Channel for instant Video Upload

Last updated: फ़रवरी 21st, 2019 by Raniganj correspondent