सेन्द्रा में तीन दिनों से जारी हिंसक तनाव थम नहीं रहा, पुलिस बेबस

लोयाबादः-लोयाबाद पुलिस वार्ड संख्या सात अन्तर्गत सेन्द्रा न0, 6 और 10 के ग्रामीणों के आगे अपने आप को बेबस महसूस कर रही है। शुक्रवार को पुनः 8.30 बजे सुबह जमकर मारपीट और पथराव हुआ। धनबाद विधि व्यवस्था मुकेश कुमार एव केन्दुआडीह अंचल पुलिस निरिक्षक भाखारी राम दलबल के साथ पहुँचकर बल प्रयोग कर मामले को नियंत्रित किये।

घटना को लेकर एक पक्ष के चुनिया देवी पति गुड्डू रविदास ने मारपीट का शिकायत 14/3/19 को लोयाबाद थाना में दिया था,जिसमें कांड संख्या 17/19 दर्ज किया गया।शुक्रवार को रीता कुमारी ने छेडछाड, पूरे परिवार को जान मारने का धमकी कि लिखित शिकायत लोयाबाद थाना को दिया, जिसमें कांड संख्या 19/19 दर्ज हुआ।

कंचन देवी पति बसंत भुइँया ने अवैध धंधा करने के विरोध करने पर देवा भुइँया, विशाल रविदास, मुकेश कुमार, लालु भुइँया, राजु भुइयां, विकास भुइँया, अभिषेक रविदास, राजा भुइँया, जग्रनाथ भुइयां, सुनिता देवी,देवंती देवी,चंदना देवी,ललीता देवी उर्फ खुशबु,संतोष भुइँया, प्रभु भुइँया, पिंटु भुइयाँ सहित 15/20.अन्य ने हथियार ,लाठी डंडे से लैश होकर मारपीट, पथराव का लिखित शिकायत पर कांड संख्या18/19 लोयाबाद पुलिस ने दर्ज किया।

लोयबाद पुलिस दर्जनों महिला पुरुषों को पूछताछ के लिए थाना लेकर आई है। घटना के संबंध में बताया जाता है कि बुधवार को देर रात जमकर मारपीट हुआ,दुबारा गुरुवार के सुबह सात बजे भी दोनों पक्षों के बीच पथराव हुआ, जिस में दर्जनों घर क्षतिग्रस्त हो गया,और दोनों ओर से दर्जनों लोग घायल हुए हैं, जिनका ईलाज पीएमसीएच में चल रहा है।

घटना के संबंध में बताया जाता है कि सेन्द्रा 10 न0 में आये दिन छेडख़ानी करना, चोरी का लोहा कोयला उसी बस्ती होकर ले जाने का विरोध घटना का मुख्य कारण है। सूत्रों की माने तो विवाद कई दिनों से चल रहा था, क्षेत्र में तनाव भी था, बुधवार के रात में सेन्द्रा 10न0 के कुछ युवक बासजोडा से मेला देखकर आ रहे थे, जिन्हें न0 6 के युवकों द्वारा रोक कर गालीगलौज मारपीटकर मोबाइल छीन लिया गया था। बुधवार के रात्रि में मारपीट का कारण यही था।

सुबह क्षेत्र के पार्षद द्वारा दोनों पक्षों के बीच समझौता करने का भरसक प्रयास किया गया था, पर कुछ लड़कों ने उतेजक माहौल बना दिया, जिससे पुनः सात बजे सुबह जमकर पथराव हुआ। पार्षद नंदुलाल सेनगुप्ता ने घायल चंदा भुइँया, छोटे भुइँया, देवा भुइँया और मुकेश रविदास को पीएमसीएच ईलाज के लिए भेजा। सूचना पर लोयाबाद पुलिस घटना स्थल पहुँचकर मामले को नियंत्रित किया।

स्थानीय लोगों का कहना है कि लोयाबाद पुलिस मामले को बहुत हल्के में लिया, जबकि मामला तनावपूर्ण था,अगर पुलिस गुरुवार के रात्रि में ही सख्ती से पेश आती तो मामला इतना गम्भीर नहीं होता।

यह भी पढ़ें

दो दिनों से मारपीट और पथराव के कारण माहौल तनावपूर्ण

Subscribe Our YouTube Channel for instant Video Upload

Last updated: मार्च 15th, 2019 by Pappu Ahmad