जमीन के अंदर लगी आग और गैस के कारण जमीन धसने से महिला हुई जमीदोंज, आवाज सुन कर लोगों ने निकाला बाहर

झरिया। लोग कहते है जीना मरना भगवान के हाथों में हैं, कहते हैं न समय सब कुछ बदल कर रख देता हैं। आज के दौर में बीसीसीएल अग्नि प्रभावित में रहे रहे लोगों के लिए भवगान बना हुआ हैं। यह बात आपको अटपटा लग रहा होगा सुनने में। आपको बता दू की घनुडीह मल्लाह के बस्ती के लोग मौत के मुहाने पर रहने पर विवश हैं। घनुडीह ओपी क्षेत्र के घनुडीह मोहरीबांध में शनिवार की देर रात्रि सूरज निषाद की पत्नी मालती देवी घर के बाथरूम में शौच के लिए गयी थी। जमीन के अंदर लगी आग और गैस के कारण जमीन धस गया महिला जमीदोंज हो गयी, बाथरूम की चारदीवारी महिला पर गिरा गया। महिला को किसी तरह से लोगों ने निकाल कर धनबाद के नर्सिंग होम में भर्ती कराया। महिला की स्थिति काफी गंभीर है, महिला को काफी चोट लगी है। पैर टूट गया है, महिला का शरीर निकालने के दौरान घर में काफी खून गिरा हैं। घटना का आँखों देखा हाल मालती देवी के पुत्र नमन कुमार ने बताया कि मेरी माँ शौच के लिए गयी, तभी जमीन धस गया, और माँ जमीन के अंदर जाने लगी हैं, चीखने चिल्लाने लगा। बगल पड़ोसी रेशमी देवी आवाज सुन कर आयी, रेशमी देवी में बताया कि रात मोहलबनी घाट से कुछ लोग शव जला कर आ रहा था। आवाज सुनकर सभी लोग आये और मालती देवी को बाहर निकाला, जहाँ इलाज के लिए आनन फानन में भर्ती कराया।

लोगों का कहना हैं कि बीसीसीएल और जिला प्रशासन जानबूझ कर मारना चाहती है

घनुडीह मोहरीबांध के लोगों पर हर वक्त मंडराता हैं मौत। फिर भी बीसीसीएल प्रबन्धन और जिला प्रशासन की कुंभकरणी नींद नहीं टूट रही है। यहाँ के लोगों का कहना हैं कि बीसीसीएल और जिला प्रशासन जानबूझ कर मारना चाहती है। सिर्फ नोटिस चिपका कर चले जाते हैं। आज तक हमलोगों को सुरक्षित स्थान पर बसाने का काम नहीं किया। नहीं हटने पर क़ानूनी कार्यवाही करने की बात कहते हैं। जब तक हम लोगों को घर नहीं देगा तो हम लोग कैसे घर छोड़ कर यहाँ से जाएं। हमलोग हर मिनट जिंदगी और मौत से गुजरते हैं, डर से बैठ गया है कि न जाने कब जमीदोंज हो जाएगा, कब पाताल में समा जायेंगे। आखिर क्यों बीसीसीएल और जिला प्रशासन हमलोगों को सुरक्षित स्थान पर भेज रहे हैं। अगर किसी तरह का कोई हादसा हुआ था जिला प्रशासन और बीसीसीएल प्रबंधन जिम्मेदार होगा। बीसीसीएल प्रबन्धन की इसकी सूचना दे दिया गया है।लेकिन अभी तक घटना स्थल पर सुधि लेने तक नहीं पहुँचा है।

Last updated: फ़रवरी 28th, 2021 by Arun Kumar
Arun Kumar Arun Kumar
Bureau Chief, Jharia (Dhanbad, Jharkhand)
अपने आस-पास की ताजा खबर हमें देने के लिए यहाँ क्लिक करें

हर रोज ताजा खबरें तुरंत पढ़ने के लिए हमारे ऐंड्रोइड ऐप्प डाउनलोड कर लें
आपके मोबाइल में किसी ऐप के माध्यम से जावास्क्रिप्ट को निष्क्रिय कर दिया गया है। बिना जावास्क्रिप्ट के यह पेज ठीक से नहीं खुल सकता है ।