बचपन से देख नहीं सकती सिमरन ने दसवीं में पाए 75 प्रतिशत अंक

दिव्यांग सिमरन श्रीवास्तव ने गोमो का मान बढ़ाया

गोमो : दुर्गा पाड़ा गोमो निवासी , संजय श्रीवास्तव की दिवियांग पुत्री सिमरन श्रीवास्तव ने 10 वीं की रिजल्ट में 74.8% अंक प्राप्त कर प्रथम स्थान प्राप्त कर गोमो का मान बढ़ाया है , वह गोमो के बालिका उच्च विद्यालय में पढ़ती है । वह अपनी सफलता का श्रेय , माता पिता ,और अपनी बड़ी बहन खुशबू श्रीवास्तव को देती है ।

सिमरन अपनी सफलता से काफी खुश है , सिमरन के फर्स्ट होने तथा अधिक अंक प्राप्त करने से आसपास के लोगों ने उसे ढेर सारी बधाई दिए हैं ।

बचपन से देख नहीं सकती सिमरन, बड़ी बहन ने पढ़ने में काफी मदद की

बड़ी बहन खुशबू

दिव्यांग सिमरन के बारे में उसकी बड़ी बहन खुशबू श्रीवास्तव ने बताया कि मेरी छोटी बहन को बचपन से ही कुछ दिखाई नही देता है । हमलोगों ने उसे रिकॉर्डिंग के माध्यम से उसे पढ़ाया है , टेप से वो सभी तरह के सवालों का जवाब याद करती थी। 10 वीं बोर्ड की परीक्षा के दिन हमलोगों ने मजिस्ट्रेट से आदेश लेकर उसके लिए एक टाईप राइटर को रखा था, उसे सवाल बताया जाता और जो जवाब वो देती थी , उसे कॉपी पर लिखा जाता था।जिससे वो फर्स्ट और 74.8% से पास हुई है ।

खुशबू ने बताया कि मेरी बहन पढ़ने के अलावे गाने का भी काफी शौक है , उसकी आवाज काफी सुरीली है , कई बार स्टेज प्रोग्राम में उसे पुरष्कार देकर सम्मानित भी किया जा चुका है , सभी तरह के गाने वो बखूबी गा लेती है , हम लोग अपनी बहन से बहुत प्यार करते हैं , अभी वो मेरे पास रांची में रहकर कंप्यूटर और ब्रेल भाषा की पढ़ाई सिख रही है ।

Subscribe Our YouTube Channel for instant Video Upload

Last updated: मई 17th, 2019 by Nazruddin Ansari