नहीं दिखा चाँद , 7 मई को रखा जाएगा पहला रोजा

रांची, एदार ए शरीया झारखण्ड के नाजिमे आला मौलाना कुतुबुद्दीन रिजवी ने कहा है कि 29/शाबान अनुसार 5 मई 2019 दिन रविवार मगरिब के बाद दरगाह शरीफ डोरणडा, रांची में एदार ए शरीया झारखण्ड के काजीयाने शरीयत, मुफ्तियाने केराम और उलेमा की बैठक चीफ काजीए शरीयत हजरत मुफ्ति आबिद हुसैन मिसबाही की सदारत में हुयी जिस में निर्णय लिया गया कि आज 29/शाबान को रांची व आस-पास में बादल होने की वजह से रमजानुल मोबारक का चांद नजर नहीं आया ،राज्य के विभिन्न भागों में आसमान साफ था मगर चांद नजर नहीं आया । देश के बहुत से जगहों से सम्पर्क किया गया लेकिन कहीं से भी रमजानुल मोबारक का चांद नजर आने की कोई खबर नहीं है इस लिए एदार ए शरीया झारखण्ड दारुल कजा से फैसला लिया गया कि दिनांक 7/मई 2019 दिन मंगलवार को रमजानुल मोबारक का पहला रोजा रखा जाएगा।

बैठक में मौलाना सययद शाह अलकमा शिबली, मौलाना कुतुुबुद्दीन रिजवी, मुफती आबिद हुसैन मिसबाही, सैयद नुरुल एैन बरकाती, मोहम्मद सईद, मुफती एजाज हुसैन, मौलाना डॉ० ताजुद्दीन रिजवी, मौलाना नसीमुद्दीन खान, मुफती फैजुल्लाह मिसबाही, कारी अययुब, मौलाना दिलदार हुसैन मिसबाही, मौलाना मुजीबुर रहमान, एस, एम, मोईन, हाफिज नसरुल्लाह, मौलाना इरशाद मिसबाही, मौलाना अब्बास मिसबाही, हाफिज मोबीन रिजवी, मौलाना फारुक मिसबाही ,मौलाना नेजामुद्दीन आदि मौजूद थै.

Last updated: मई 5th, 2019 by Pappu Ahmad
अपने आस-पास की ताजा खबर हमें देने के लिए यहाँ क्लिक करें

हर रोज ताजा खबरें तुरंत पढ़ने के लिए हमारे ऐंड्रोइड ऐप्प डाउनलोड कर लें
आपके मोबाइल में किसी ऐप के माध्यम से जावास्क्रिप्ट को निष्क्रिय कर दिया गया है। बिना जावास्क्रिप्ट के यह पेज ठीक से नहीं खुल सकता है ।