मंत्री हाजी हुसैन अंसारी ने अपने घर में परिवार के साथ अदा की ईद उल अजहाँ की नमाज

मधुपुर1अगस्त। महीनों बाद मधुपुर विधायक झारखंड सरकार के अल्पसंख्यक व निबंधन मंत्री हाजी हुसैन अंसारी रांची से पहुँचे मधुपुर जहाँ उन्होंने अपने आवास में शनिवार को ईद उल अजहाँ की नमाज सोशल डिस्टेंसिंग के साथ घरों में अता की मंत्री हाजी हुसैन अंसारी ने कहा कि इस्लाम अमन सलामती का मजहब है। भगवान ने अपने बंदो से मोहब्बत और शफकत का बर्ताव करना और दुनिया में हक व इंसाफ का कानून लागू करना इस्लाम का मकसद है इस्लाम का नाम ही खुद ही बता रहा है कि यह मजहब सलामती और मोहब्बत की शिक्षा देता है ।

उन्होंने बकरीद त्यौहार को लेकर कहा कि हमारा मुल्क हिंदुस्तान कई धर्मों और जुबानो का एक खूबसूरत हसीन संगम है यही वजह है के यहाँ के लोगों के रीत व रवाज मैं बड़ी मेल मिलाप और भाई चारे का बंधन है जिसके कारण इस मुल्क में जितने भी त्यौहार है लोग आपस में मिलजुल कर एक दूसरे के साथ खुशियाँ बाँट कर मनाते हैं और शामिल होते हैं। यह हमारा मुल्क का मोहब्बत और भाईचारे का पैगाम सारी दुनिया को जाती है। चाहे वह ईद, बकरीद, होली, दीवारी व रक्षाबंधन तकरीबन सभी त्यौहार हिंदू-मुसलमान सब मिलजुल कर मनाते हैं और एक दूसरे की खुशियों में शामिल होते हैं।

मंत्री ने बकरीद त्यौहार के बारे में कहा ईद उल अजहाँ यानि बकरीद ऐसा त्यौहार है जो हमें फर्ज सनासी बंदगी और इशार व मोहब्बत का जज्बा पैदा करता है । जानवरों की कुर्बानी हकीकत हजरत इब्राहिम अलैहिस्सलाम कि सुन्नत की याद में की जाती है और जानवर अल्लाह की राह में कुर्बान किए जाते हैं यही इसार व मोहब्बत का जज्बा दिल में पैदा होता है ईद कुर्बान खुदा की राह में अपना सब कुछ कुर्बान कर देने की तहरीर देता है।

उन्होंने तमाम हिंदू मुस्लिम भाई बहनों को ईद उल अजहाँ की मुबारकबाद देते हुए मुल्क की सलामती और तरक्की के लिए दुआएं मांगी और करोना जैसी महामारी से मुल्क को जल्द से जल्द छुटकारा मिले।

लॉकडाउन का पालन करते हुए मुस्लिम भाइयों ने अदा की घरों में ईद उल अजहाँ की नमाज

मधुपुर 1अगस्त। मुस्लिम धर्म वासियों का पर्व ईद उल अजहाँ शनिवार को हर्षोल्लास के साथ मनाया गया वैश्विक महामारी को देखते हुए मुस्लिम भाइयों ने ईद उल अजहाँ की नमाज अपने अपने घरों में अदा की ओर लोगों ने इस करोना वैश्विक महामारी मैं अल्लाह से दुआ की कोरोना जैसी बीमारी से जल्द से जल्द देश को छुटकारा मिले।


नमाज़ के बाद अपने अपने घरों में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ हजरत इब्राहिम अलैहिस्सलाम के बेटे हजरत इस्माइल अली सलाम की सुन्नतों को कुर्बानी देकर अदा किये। बच्चों व बच्चियों में काफी मायूसी का माहौल देखा गया जहाँ किसी तरह का मेला ठेला नहीं लगा। लोक डॉउन, व सरकार के गाइड लाइन के कारण सभी ईदगाह और मस्जिदों में सन्नाटा पसरा रहा एवं लोग अपने -अपने घरों में ईद उल अजहाँ की नमाज अदा की ओर सरकार की गाइडलाइन का पालन किया। ईद उल अजहाँ त्यौहार के अवसर पर शांति एवं विधि व्यवस्था संधारण के साथ-साथ कोरोना वायरस कोविड-19 से बचाव रोकथाम हेतु मास्क का उपयोग एवं सामाजिक दूरी बनाए रखने के दौरान अन्य सरकारी निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित कराया जाना है इसके अलावा पर्व के दौरान कहीं भी भीड़ एकत्रित ना हो इसके इसका भी ख्याल रखा गया है इस पर्व के अवसर पर मधुपुर शहरी क्षेत्र अंतर्गत शांति में विधि व्यवस्था बनाए रखने वाले कोविड-19 से बचाव हेतु पदाधिकारियों को गस्ती के लिए दंडाधिकारी के रूप में प्रतिनियुक्त किया गया।

नियुक्त किए गए पदाधिकारियों में प्रखणड विकास पदाधिकारी अनंत कुमार झा, अंचलाधिकारी मनीष कुमार, कार्यपालक दंडाधिकारी संजय कुमार सिन्हा कार्यपालक पदाधिकारी सुशील कुमार कनीय अभियंता दिलीप कुमार यादव डॉक्टर रंजन कुमार झा पशुपालन पदाधिकारी विनोद कुमार महतो कनीय अभियंता विश्वनाथ भगत नगर प्रबंधक समेत कई दंडाधिकारी को नियुक्त किया गया । प्रशासन जगह-जगह पर तैनात किए गए, ताकि किसी प्रकार ईद उल अजहाँ का त्यौहार शांति ढंग से संपन्न हो वहीं अनुमंडल पदाधिकारी योगेंद्र प्रसाद अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी वशिष्ठ नारायण सिंह पुलिस निरीक्षक सत्येंद्र प्रसाद भी सभी जगह मॉनिटरिंग कर रहे थे।

Last updated: अगस्त 1st, 2020 by Ram Jha
Ram Jha Ram Jha
Correspondent , Madhupur (Jharkhand)
अपने आस-पास की ताजा खबर हमें देने के लिए यहाँ क्लिक करें

हर रोज ताजा खबरें तुरंत पढ़ने के लिए हमारे ऐंड्रोइड ऐप्प डाउनलोड कर लें
आपके मोबाइल में किसी ऐप के माध्यम से जावास्क्रिप्ट को निष्क्रिय कर दिया गया है। बिना जावास्क्रिप्ट के यह पेज ठीक से नहीं खुल सकता है ।