नक्सली हमले में शहीद मुन्ना यादव की पत्नी ने किया स्मारक बनाने की मांग

साहिबगंज। नक्सली हमले में शहीद हुए मुन्ना यादव की पत्नी निताई कुमारी ने जिला उपायुक्त रामनिवास यादव से मिलकर अपने वीर शहीद पति मुन्ना यादव के लिए अपने निवास स्थान महादेवगंज गाँव में एक शहीद स्मारक एवं तोरण द्वार निर्माण करने के लिए एक आवेदन दिया है। दिए गए आवेदन में उन्होंने लिखा है कि मेरे पति केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के 170 बटालियन के बीजापुर सब्जी मंडी (छत्तीसगढ़) में तैनात थे। उनके साथ वहाँ के डीआईजी एवं पुलिस अधीक्षक के साथ संयुक्त रूप से अभियान में शामिल थे। तभी अपनी ड्यूटी के दौरान उरीपाल के जंगल में तीनों तरफ से नक्सली हमले में घिर गए, एवं उन्होंने वीरता और साहस का परिचय देते हुए नक्सलियों से लोहा लेते हुए विगत 15 मई 2020 को शहीद हो गए थे।

आगे उन्होंने लिखा है कि मेरे पति की वीरता, साहस एवं शौर्य को जिले के तमाम नागरिक सहित आने वाली नई पीढ़ी को स्मरण दिलाने के लिए एक शहीद स्मारक एवं तोरण द्वार का निर्माण अति आवश्यक है, ताकि यह तोरण द्वार एवं स्मारक प्रत्येक नागरिकों को एवं आने वाली नई पीढ़ी को सदियों तक मुन्ना यादव के शौर्य एवं बलिदान की गाथा का स्मरण दिलाता रहे। साथ ही नवयुवकों के दिल में राष्ट्रप्रेम और बलिदान का जज्बा भी कायम रह सके। यह सिर्फ स्वर्गीय मुन्ना यादव की विधवा निताई कुमारी की ही नहीं, अपितु जिले की जनता की भी मांग है। यही शहीद हुए वीर बहादुर मुन्ना यादव के लिए सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

पत्र की एक प्रति रांची सीआरपीएफ के उपमहानिरीक्षक एवं बीजापुर के 170 बटालियन के कमांडेंट को भी उपायुक्त के माध्यम से भेजी गई है।

Last updated: फ़रवरी 25th, 2021 by Sanjay Kumar Dheeraj
Sanjay Kumar Dheeraj Sanjay Kumar Dheeraj
Correspondent, Sahibganj (Jharkhand)
अपने आस-पास की ताजा खबर हमें देने के लिए यहाँ क्लिक करें

हर रोज ताजा खबरें तुरंत पढ़ने के लिए हमारे ऐंड्रोइड ऐप्प डाउनलोड कर लें
आपके मोबाइल में किसी ऐप के माध्यम से जावास्क्रिप्ट को निष्क्रिय कर दिया गया है। बिना जावास्क्रिप्ट के यह पेज ठीक से नहीं खुल सकता है ।