बांसजोड़ा कोलियरी रेलवे साइडिंग स्थित कोल डंप में आग, लाखों रुपये मूल्य का कोयला जलकर खाक

लोयाबाद सिजूआ क्षेत्र के सेंद्रा बांसजोड़ा कोलियरी रेलवे साइडिंग स्थित कोल डंप में आग लगी हुई है। अब तक लाखों रुपये मूल्य का कोयला जलकर खाक हो रहा है । प्रबंधन के द्वारा इस आग को बुझाने के लिए सही से प्रयास नहीं किया जा रहा है। कोयले में लगी आग धधकती रहती है।

कर्मियों का कहना है कि स्थानीय प्रबन्धन की लापरवाही से राष्ट्रीय संपत्ति की क्षति हो रही है।भारी मात्रा में रोजाना कोयला जल रहा है। प्रबंधन आग पर काबू कर देश के हो रहे नुकसान होने से बचा सकता है। उत्खनन परियोजना में कोयले का उत्पादन होने के बाद डंप में कोयला जमा किया जाता है।

पहले भी हो चुकी है ऐसी घटना

पीओ जे के जयसवाल का कहना है कि आग बुझाने का काम चल रहा है। शीघ्र ही आग पर काबू पा लिया। यह परियोजना अग्नि प्रभावित है। गौरतलब है कि बांसजोड़ा कोलियरी साइडिंग में फरवरी 2018 में कोयला लोड लेकर खड़ी ट्रक में आग लग गई थी जिससे ट्रक जल कर खाक हो गया था। इस मामले को लेकर तत्कालीन पीओ ए के सिंह और ट्रक मालिक के बीच मुकदमेबाजी हुई थी।

आग लगे कोयले को ही यहाँ डंप कर दिया जाता है

यह परियोजना अग्नि प्रभावित जरूर है लेकिन ऐसा नहीं है कि जो भी कोयला उत्पादन होता है सब अग्नियूक्त है। परियोजना से उत्पादित कोयला आग लगी डंप में गिराया जाता है नतीजतन उक्त कोयले में भी आग लग जाता है। डंप के समीप 15 इंच के पाइप से पानी बहता रहता है। प्रबंधन के द्वारा यदि उस पाइप का पानी अग्नियूक्त कोल डंप गिराने की व्यवस्था कर दे तो आग पर आसानी से काबू पाया जा सकता है। हालांकि प्रबंधन के द्वारा पानी डाला जाता है।

Last updated: जून 11th, 2020 by Pappu Ahmad
Pappu Ahmad Pappu Ahmad
Correspondent, Dhanbad
अपने आस-पास की ताजा खबर हमें देने के लिए यहाँ क्लिक करें

हर रोज ताजा खबरें तुरंत पढ़ने के लिए हमारे ऐंड्रोइड ऐप्प डाउनलोड कर लें
आपके मोबाइल में किसी ऐप के माध्यम से जावास्क्रिप्ट को निष्क्रिय कर दिया गया है। बिना जावास्क्रिप्ट के यह पेज ठीक से नहीं खुल सकता है ।