झारखंड के पूर्व मंत्री जद(यु) विधायक रमेश सिंह मुंडा का हत्यारा खूंटी से गिरफ्तार

एनआईए – रायपुर की टीम ने खूंटी से धर दबोचा

रमेश सिंह मुंडा की 9 जुलाई 2008 को हत्या कर दी गयी थी। एनआईए-रायपुर की टीम ने आरोपी भजोहरि मुंडा(48 वर्ष) को बीते शनिवार को गिरफ्तार किया है। वह काफी लंबे समय से फरार चल रहा था। हत्याकांड का मुख्य आरोपी माओवादी कुंदन पाहन पहले से पुलिस हिरासत में है।

5 करोड़ में माओवादियों के साथ हुयी थी डील

एनआईए-रायपुर द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार 5 करोड़ में इस हत्या की डील हुई थी। राजा पीटर जो गोपाल कृष्ण पीटर के नाम से भी प्रसिद्ध है, नाम के व्यक्ति ने माओवादी नेता कुंदन पाहन को रमेश सिंह मुंडा की हत्या करने के लिए 3 करोड़ रुपये दिये थे।

तीन करोड़ में से 2.78 करोड़ रुपये कुंदन पाहन ने भजोहरि नक्सली गतिविधियों के लिए दिया। बाकी के दो करोड़ रुपये राजा पीटर के एक कर्मचारी द्वारा बलराम साहु को दिया गया।

9 जुलाई 2008 को माओवादियों ने मंत्री रमेश सिंह मुंडा को उनके दो अंगरक्षक एवं एक और व्यक्ति सहित गोलियों से भून दिया। वे रांची जिले के बुंडु के निकट बारूहाटु ग्राम में एक विद्यालय के पुरस्कार वितरण सभा में पुरस्कार वितरण करने पहुँचे थे।

घटना के कुछ दिनों बाद माओवादी कुंदन पाहन ने आत्म समर्पण कर दिया एवं उसकी निशानदेही पर राजा पीटर भी गिरफ्तार कर लिया गया लेकिन दूसरा आरोपी भजोहरि मुंडा काफी दिनों से फरार चल रहा था जिसे बीते शनिवार 12 जनवरी को एनआईए की टीम ने धर दबोचा।

इस खबर के प्रायोजक हैं : Bengal Press - Asansol

यहाँ सभी प्रकार की मल्टी कलर ऑफसेट , स्क्रीन एवं फ़्लेक्स की प्रिंटिंग सबसे कम कीमत पर की जाती है।
Last updated: जनवरी 13th, 2019 by News Desk Monday Morning

अपने आस-पास की ताजा खबर हमें देने के लिए यहाँ क्लिक करें

हर रोज ताजा खबरें तुरंत पढ़ने के लिए हमारे ऐंड्रोइड ऐप्प डाउनलोड कर लें
आपके मोबाइल में किसी ऐप के माध्यम से जावास्क्रिप्ट को निष्क्रिय कर दिया गया है। बिना जावास्क्रिप्ट के यह पेज ठीक से नहीं खुल सकता है ।