गिरिडीह लोकसभा चुनाव में झामुमो और आजसू राजग में सीधी टक्कर

jhamumo-ajasu-competition-giridih-loksabha

गोमो : बोकारो जिले का भु -भाग गिरिडीह और धनबाद, दोनों लोकसभा क्षेत्रों में बंटा हुआ है । जिले के बेरमो, गोमिया, तथा डुमरी, विधानसभा का लगभग आधा क्षेत्र गिरिडीह लोकसभा क्षेत्र में तो वहीं बोकारो और चंदन कियारी, विधानसभा क्षेत्र धनबाद लोकसभा क्षेत्र में पड़ता है ।

बात करें गिरिडीह की तो जहाँ से एनडीए ने राजग के राज्य सरकार के जल संसाधन मंत्री व रामगढ़ के विधायक चन्द्र प्रकाश चौधरी को आजसू पार्टी का उम्मीदवार बनाया है । तो यूपीए महागठबन्धन ने झामुमो विधायक टाईगर जगरनाथ महतो को अपना प्रत्याशी बनाया है.

पाँच बार सांसद रहे रवीन्द्र कुमार पांडे ने पीछे किए पैर

कल तक समझा जा रहा था कि बगावत का झंडा थाम चुके गिरिडीह से भाजपा टिकट पर पाँच बार सांसद रहे रवीन्द्र कुमार पांडे ,निश्चय ही चुनावी समर में कूदेंगे । उन्होंने ऐसी घोषणा भी कर दी थी । लेकिन अब उन्होंने अपना ह्रदय परिवर्तन कर लिया है । अब वह स्पष्ट कह चुके हैं कि लोकसभा का चुनाव इस बार नहीं लड़ेंगे । ऐसी स्थिति में अब इस बात के संकेत साफ मिलने लगे हैं हैं कि गिरिडीह में जहाँ झामुमो प्रत्याशी जगरनाथ महतो का सीधा मुकाबला आजसू प्रत्याशी के उम्मीदवार चन्द्र प्रकाश चौधरी से होगा ।

गिरिडीह की बात करें तो भाजपा ने यहाँ से पाँच बार सांसद रहे रवीन्द्र कुमार पांडेय का पत्ता काटकर रामगढ़ के आजसू विधायक और राज्य सरकार के जल संसाधन मंत्री चन्द्र प्रकाश चौधरी की एनडीए ने अपना उम्मीदवार बनाया है ।

जबकि विगत लोकसभा चुनाव में भाजपा को जोरदार टक्कर देने वाले, डुमरी के झामुमो विधायक जगरनाथ महतो इस बार यहाँ गठबन्धन के प्रत्याशी बनाये गए हैं । हालांकि टिकट कटने से आहत रवीन्द्र कुमार पांडेय ने गिरिडीह से चुनाव लड़ने की बात काफी जोरों पर थी लेकिन इस बीच फिर उनके चुनाव लड़ने की बातें हवा में तैरने लगी ।

पांडेय अब चुनाव नहीं लड़ेंगे ,ऐसी घोषणा उन्होंने स्वंय कर दी हैं । वहीं राजनीति की जानकारों की माने तो पांडेय का गुस्सा अब पार्टी नेताओं के समझाने पर भले ही शांत हो गया हो लेकिन वो दिल से कभी नहीं चाहेंगे कि उनकी इस परम्परागत सीट पर आजसू का स्थाई कब्जा हो जाए इसलिए उनके समर्थकों का साथ भी आजसू को मिले, इन परिस्थितियों में अब राजनीतिक परिदृश्य में काफी बदलाव के संकेत मिलने लगे हैं ।

राजग और झामुमो में होगी टक्कर

उल्लेखनीय है कि वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा के रवीन्द्र कुमार पांडेय 3 लाख 91 हजार 913 मत पाकर विजय रहे थे । जबकि झामुमो के जगरनाथ महतो को 3 लाख 51 हजार 600 मत लाकर दूसरे स्थान पर रहे थे । बाकी सभी प्रत्याशी इन दोनों के सामने बौने साबित हुए थे ।

Last updated: अप्रैल 16th, 2019 by Nazruddin Ansari

हर रोज ताजा खबरें पढ़ने के लिए व्हाट्सऐप या ईमेल सबस्क्राइब कर लें
Whatsapp email
सबस्क्राइब कर चुके हैं तो यहाँ क्लिक करें
आपके मोबाइल में किसी ऐप के माध्यम से जावास्क्रिप्ट को निष्क्रिय कर दिया गया है। बिना जावास्क्रिप्ट के यह पेज ठीक से नहीं खुल सकता है ।