जैन धर्मावलंबियों का 10 दिन चलने वाली 10 लक्षण पर्व का शुभारंभ , पहले दिन क्षमा धर्म का पालन

क्रोध-बैर छोड़कर सभी क्षमा मांगना और क्षमा करना उत्तम क्षमा धर्म है

जैन धर्मावलंबियों का 10 दिन चलने वाली 10 लक्षण पर्व मंगलवार से आरम्भ हो गई। मंगलवार को 10 लक्षणों में प्रथम उत्तम क्षमा धर्म का पालन किया गया। इस दौरान सुबह से में रोड स्थित दिगम्बंर जैन मंदिर में जैन समाज के लोग पारसनाथ भगवान का मस्तकाभिषेक किया। सभी श्रद्धालु पीले रंग का वस्त्र धारण कर भगवान पर जलार्पण कर विश्व शांती धारा का आयोजन किया।

महाराष्ट्र से पधारे बाल ब्रहमचारी अजय भैया ने विधि विधान से सभी कार्यक्रम उनके सानिध्य में किया गया। सुबह में भगवान पारसनाथ की मस्तकाभिषेक व सामूहिक पूजा के बाद शाम को संध्या आरती व सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा। इसके अलावा अजय भैया का प्रवचन होगी।

मालूम हो कि 10 लक्षण पर्व जैनियों के लिए त्याग का पर्व माना जाता है। जैन समाज के कई लोग 10 दिनों तक निर्जला उपवास करते है। वहीं कोई एक दिन, कोई पाँच दिन तो कोई दो दिन का उपवास रखते है। इस तरह प्रतिदिन लोग अपने जीवन में कुछ ना कुछ त्याग करते है।

इस अवसर पर दिगम्बंर जैन समाज के मंत्री अनिल जैन, नीरू जैन, अशोक जैन, विनय जैन, संजय छाबड़ा, बबलू जैन स्वरूप् जैन, लट्टू जैन, चंचल जैन, बेला जैन, इंदिरा जैन, संगीता जैन, नीता जैन, मधु जैन, अंजू जैन, मंजू जैन, सरिता जैन, सुमित्रा जैन आदि मौजूद थे।

इस खबर के प्रायोजक हैं : Bengal Press - Asansol

यहाँ सभी प्रकार की मल्टी कलर ऑफसेट , स्क्रीन एवं फ़्लेक्स की प्रिंटिंग सबसे कम कीमत पर की जाती है।
Last updated: सितम्बर 3rd, 2019 by Om Sharma
अपने आस-पास की ताजा खबर हमें देने के लिए यहाँ क्लिक करें

हर रोज ताजा खबरें तुरंत पढ़ने के लिए हमारे ऐंड्रोइड ऐप्प डाउनलोड कर लें
आपके मोबाइल में किसी ऐप के माध्यम से जावास्क्रिप्ट को निष्क्रिय कर दिया गया है। बिना जावास्क्रिप्ट के यह पेज ठीक से नहीं खुल सकता है ।