स्वावलंबन की दिशा में महिलाओं के बढ़ते कदम,ग्रामीण महिलाओं ने कुटीर उद्योग के लिए मिलकर इकट्ठा किये हज़ारों रुपये

मधुपुर प्रखंड के जावागुड़ी पंचायत अंतर्गत लालपुर गाँव की महिलाओं ने बैठक करते हुए “इंडिजिनस क्राउड़ फंडिग” का जीवंत उदारहण पेश किया है। लालपुर में युवा प्रवासी मजदूरों के लिए ग्रामीण उद्योग बतौर सरसों तेल, मीर्च मशाला, हल्दी, गोलमीर्च, जीरा पाउडर बनाने के लिए तत्काल 20 हजार 5 सौ रुपये इकट्ठा कर लिया है।

संवाद स्वयंसेवी द्वारा ग्रामीणों को कुटीर उद्योग, पशुपालन, मत्स्य पालन और जैविक खेती बारी के द्वारा स्वावलंबी बनाने की दिशा में निरंतर प्रयास किया जा रहा है। ग्रामोद्योग का उद्घाटन अगामी 19 अक्तूबर को होगा। महिलायें सहयोगी भूमिका निभायेंगी। महिलाओं और प्रवासी मजदूरों का उत्साह बढ़ाने के लिए आम और खास लोगों से नैतिक समर्थन की अपील की गई है । ग्रामीण इंद्रदेव मंडल ने कहा है कि संभव हो तो आर्थिक मदद भी करें। इतना ही नहीं, यह भी अपेक्षा कि है कि इन मजदूरों द्वारा उत्पादित सामग्री भी खरीद कर इन्हें स्वावलंबी बनाने में इन्हें यथासंभव हार्दिक सहयोग करें ।

बैठक में महिलाओं ने यह भी निर्णय लिया कि जो इस ग्रामीण उद्योग में अपना अंश दान देंगे, उनकी राशि साल भर बाद ससम्मान लौटा दी जायेगी।

Last updated: सितम्बर 24th, 2020 by Ram Jha
Ram Jha Ram Jha
Correspondent , Madhupur (Jharkhand)
अपने आस-पास की ताजा खबर हमें देने के लिए यहाँ क्लिक करें

हर रोज ताजा खबरें तुरंत पढ़ने के लिए हमारे ऐंड्रोइड ऐप्प डाउनलोड कर लें
आपके मोबाइल में किसी ऐप के माध्यम से जावास्क्रिप्ट को निष्क्रिय कर दिया गया है। बिना जावास्क्रिप्ट के यह पेज ठीक से नहीं खुल सकता है ।