ये सरकारी स्कूल के बच्चे हैं, मछली पकड़ने में बिता रहे हैं समय, ऑनलाइन क्लास क्या होता है इन्हें मालूम नहीं

लोयाबाद। स्कूल बंद होने से सरकारी स्कूल के बच्चे मछली पकड़ने में दिन गुजार रहे हैं। उसके पास ऑनलाइन पढ़ाई का विकल्प तो नहीं है। ट्यूशन पढ़ाने वाले भी कोई उसकी मदद नहीं कर रहे हैं। सरकारी स्कूल के बच्चे होने से इन बच्चों को ऑनलाइन पढ़ाई तो दूर ट्यूशन भी नही मिल पा रही है। ऐसे ही कुछ बच्चे आपको लोयाबाद मदनाडीह तालाब किनारे मछली पकड़ते दिख जाएँगें।

ये बच्चे सुबह से मछली पकड़ने में लग जाते है। बच्चों के साथ बड़े भी मछली पकड़ने में लगे रहते है,कोई भी इन बच्चों के पढ़ाई को लेकर चिंतित नही है। इस कोरोना काल में इन बच्चों की पढ़ाई पूरी तरह बर्बाद हो चुकी है। ये सभी सेन्द्रा 10 नंबर के रहने वाले बच्चे है।

प्राइवेट स्कूल में होती है ऑनलाइन क्लासेस

कोरोना काल में सभी स्कूल बंद है। लेकिन विभिन्न प्राइवेट स्कूल बच्चे का ऑनलाइन क्लासेस करा रहे है। उसी क्लासेस में बच्चे को होमवर्क भी दे दिया जा रहा है। लेकिन सरकारी स्कूल के बच्चे इस सुविधा से दूर है। घरों में इन्हें कोई ट्यूशन पढ़ाने वाले नही हैं। नतीज़तन इसका असर बच्चो पर पड़ रहा है। बच्चे पूरा दिन खेल एवम मछलियाँ पकड़ने में लगा रहे हैं।

इस खबर के प्रायोजक हैं : Bengal Press - Asansol

यहाँ सभी प्रकार की मल्टी कलर ऑफसेट , स्क्रीन एवं फ़्लेक्स की प्रिंटिंग सबसे कम कीमत पर की जाती है।
Last updated: सितम्बर 16th, 2020 by Pappu Ahmad
Pappu Ahmad Pappu Ahmad
Correspondent, Dhanbad
अपने आस-पास की ताजा खबर हमें देने के लिए यहाँ क्लिक करें

हर रोज ताजा खबरें तुरंत पढ़ने के लिए हमारे ऐंड्रोइड ऐप्प डाउनलोड कर लें
आपके मोबाइल में किसी ऐप के माध्यम से जावास्क्रिप्ट को निष्क्रिय कर दिया गया है। बिना जावास्क्रिप्ट के यह पेज ठीक से नहीं खुल सकता है ।