ईसीएल में भ्रष्टाचार को रोकने के लिए मिशन जटायु : सीएमडी, प्रेम सागर मिश्रा

ईसीएल द्वारा कोल इंडिया के 44वें स्थापना दिवस पर कुनुस्तोरिया स्टेडियम में बीते 5 नवंबर को एक पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन किया गया था। सांस्कृतिक तरीके से आदिवासी नृत्य, दीप प्रज्वलन के साथ कार्यक्रम की शुरूआत की गयी फिर गणेश वंदना पर एक नृत्य भी पेश किया गया। ईसीएल के सीएमडी प्रेम सागर मिश्रा ने अन्य अतिथियों के साथ दीप प्रज्जवलन कर कार्यक्रम का उद्घाटन किया .

भृष्टाचार का मुद्दा रहा हावी

पूरे कार्यक्रम में भ्रष्टाचार का मुद्दा हावी रहा । लगभग सभी वक्ताओं ने भ्रष्टचार के मुद्दे को प्रमुखता से उठाया और अधिकारियों ने भ्रष्टाचार रोकने के लिए हर संभव प्रयास का आश्वासन दिया।

इस मौके पर जेवीसीसीआई सदस्य सह महामंत्री (कोलियरी मजदूर कॉंग्रेस, सचिव -पश्चिम बर्धमान हिन्द मजदूर सभा) एसके पाण्डेय ने अपने सम्बोधन वक्तव्य में ईसीएल में व्याप्त भ्रष्टाचार का सिलसिलेवार तरीके से जिक्र किया साथ ही उन्होंने कहा कि ईसीएल की वर्तमान निदेशक मंडली अब तक की सबसे युवा मंडली है और इनसे ईसीएल को काफी उम्मीदें हैं।

डिसेन्ट हाउसिंग स्कीम में व्यापक गड़बड़ी

उन्होंने डिसेन्ट हाउसिंग स्कीम का जिक्र करते हुये कहा कि इस स्कीम में बहुत ही व्यापक गड़बड़ी हो रही है . उन्होंने कहा कि मैं डिसेन्ट हाउसिंग स्कीम के मॉनिटरिंग कमिटी का सदस्य हूँ और चार कंपनियों में अपने निरीक्षण के दौरान पाया कि कोल-इंडिया के इन चारों चार कंपनियों में डिसेन्ट हाउसिंग स्कीम के नाम पर कुछ भी काम नहीं हुआ है। नाम लिए बगैर एक अधिकारी के हवाले से उन्होंने कहा कि ठेकदार को मात्र 55% रुपया ही मिलता है। इसमें फिर नीचे के लोगों को देकर कितना बचता है जिससे वे कर्मचारियों के क्वार्टरों में टाइल्स लगाएंगे। उन्होंने कहा कि वे डिसेन्ट हाउसिंग स्कीम पर पूरी नजर बनाए हुये हैं और जरूरत पड़ने पर के-एक ब्लॉक जाकर निरीक्षण करेंगे ।

आउटसोर्सिंग पैच ईसीएल को समाप्त कर रहा है

उन्होंने कोलियरी मजदूर कॉंग्रेस के पूर्व महामंत्री जयंत पोद्दार का जिक्र करते हुये कहा कि आज जयंत पोद्दार कि बातें पूरी तरह से सच साबित हो रही है । उन्होंने कहा था कि आउटसोर्सिंग पैच ईसीएल को समाप्त कर देंगे। शिवकान्त पाण्डेय ने कहा कि भूमिगत खदानें ही ईसीएल की विशेषता थी लेकिन आउटसोर्सिंग के जरिये ईसीएल की इस विशेषता को खत्म किया जा रहा है साथ ही उन्होंने कहा कि आउटसोर्सिंग पैचों से बड़े पैमाने पर कोयले कि चोरी होती है। इस पर नियंत्रण लगाया जाना बहुत जरूरी है।

खदान में नहीं जाते हैं अधिकारी

श्री पाण्डेय ने जोर देकर कहा कि कोई भी नीचे स्तर के कोई भी अधिकारी खदान के में नहीं जाते हैं जबकि पूरे महीने का अंडर ग्राउंड एलाउंस वेतन के रूप में प्राप्त करते हैं। उन्होंने कहा कि मेरी जानकारी में कई ऐसे अधिकारी हैं जो पिछले एक-दो महीने में एक दिन भी खदान के भीतर नहीं गए हैं। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी आउटसोर्स पैच में लगे रहते हैं जबकि वहाँ इनका कोई काम ही नहीं है वह तो ठेकदारों का काम है।

हिन्द मजदूर सभा से मिलेगा पूरा सहयोग

श्री पाण्डेय ने कहा कि जब तक ईसीएल की पूरी कार्यप्रणाली में पारदर्शिता नहीं लायी जाएगी तब तक भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाना संभव नहीं है। साथ ही कंपनी की उत्पादकता बढ़ाने में लक्ष्य प्राप्ति में हर संभव सहयोग करने का आश्वासन दिया।

डिसेन्ट हाउसिंग स्कीम पर पूरी निगरानी रहेगी -कार्मिक प्रबंधक विनय रंजन

ईसीएल के कार्मिक प्रबन्धक विनय रंजन ने अपने सम्बोधन में कहा कि वे डिसेन्ट हाउसिंग स्कीम पर पूरी निगरानी रखेंगे और भ्रष्टाचार को रोका जाएगा। उन्होंने कहा कि क्वार्टर रिपेयरिंग देखने के लिए हर ब्लॉक में जाऊँगा।

भ्रष्टाचार को रोकने के लिए मिशन जटायु : सीएमडी, प्रेम सागर मिश्रा

ईसीएल के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक प्रेम सागर मिश्रा ने अपने सम्बोधन भाषण में भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लिए हर संभव प्रयास करने का आश्वासन दिया। भ्रष्टाचार रोकने के लिए उन्होंने मिशन ‘जटायु’ शुरू करने की बात कही । उन्होंने कहा हर कर्मचारी और अधिकारी अपने स्तर भ्रष्टाचार रोकने का प्रयास करेंगे। वे सफल होंगे या नहीं ये अलग बात है लेकिन जटायु की तरह वे आखिरी कोशिश जरूर करेंगे। साथ ही उत्पादकता बढ़ाने के लिए ‘मिशन अपग्रेडेशन’, ‘मिशन सिस्टम अडवांसमेंट’ सहित कई मिशन की घोषणा की। साथ ही उन्होंने पूरी कार्य प्रणाली में पारदर्शिता लाने का भी आश्वासन दिया।

 

कार्यक्रम में  सीएमडी के साथ डायरेक्टर टेक्निकल एसके झा, डायरेक्टर टेक्निकल परियोजना एवं प्रकल्प जय प्रकाश गुप्ता, वित्त निदेशक संजीव सोनी, कार्मिक प्रबंधक विनय रंजन के अलावा जेसीसी सदस्य इंटक के चंडी बनर्जी, एचएमएस के एसके पांडे, एटक के प्रभात राय, बीएमएस के एनके सिंह, केकेएससी के हरे राम सिंह तथा यूटीयूसी के माधव बनर्जी उपस्थित थे सहित काफी संख्या में ईसीएल श्रमिक उपस्थित थे .


 

यह भी पढ़ें

वार्षिक लक्ष्य प्राप्ति के लिए एकजुटता और अधिक परिश्रम की जरूरत – सीएमडी

 

 

Last updated: नवम्बर 9th, 2018 by Pankaj Chandravancee

हर रोज ताजा खबरें पढ़ने के लिए व्हाट्सऐप या ईमेल सबस्क्राइब कर लें
Whatsapp email
सबस्क्राइब कर चुके हैं तो यहाँ क्लिक करें
आपके मोबाइल में किसी ऐप के माध्यम से जावास्क्रिप्ट को निष्क्रिय कर दिया गया है। बिना जावास्क्रिप्ट के यह पेज ठीक से नहीं खुल सकता है ।