जानिए इस स्टेशन का नाम भागा कैसे पड़ा ….?

धनबाद के झरिया का भागा स्टेशन नेताजी की कई यादों को अपने में संजोये हुए हैं

स्वतंत्रता संग्राम के दौरान क्रांतिकारियों का धनबाद आना-जाना लगा रहता था। उनमें से एक नेताजी सुभाष चन्द्र बोस भी थे. जब गोमो से गुम होने के बाद नेताजी धनबाद के झरिया पहुँचे, तो अंग्रेज सिपाही उनका पीछा करते हुए यहाँ भी पहुँच गए, लेकिन यहाँ भी नेताजी ने अंग्रेजों को चकमा दे दिया और बचकर भाग निकले। जिसके कारण उनकी याद में स्टेशन का नाम ‘भागा’ रखा गया।

18 जनवरी 1941 को नेताजी धनबाद पहुंचे थे । वे झरिया के एक स्थान पहुंचे अंग्रेज़ उनका पीछा करते हुये वहाँ भी पहुँच गए । लेकिन ऐन वक्त पर चकमा देकर नेताजी वहाँ से भाग गए। इसलिए यह जगह भागा के नाम से प्रसिद्ध हो गया। भागने और पीछा करने का सिलसिला जारी था लेकिन एक स्थान के बाद से नेताजी गुम हो गए फिर आज तक उनका कोई पता नहीं चला । जिस स्थान पर अंग्रेजों ने नेताजी को आखिरी बार ट्रेस किया था और जहां से वे गुम हो गए उसका नाम गोमो पड़ गया ।

इस खबर के प्रायोजक हैं : Bengal Press - Asansol

यहाँ सभी प्रकार की मल्टी कलर ऑफसेट , स्क्रीन एवं फ़्लेक्स की प्रिंटिंग सबसे कम कीमत पर की जाती है।
Last updated: जनवरी 23rd, 2019 by News Desk Monday Morning

अपने आस-पास की ताजा खबर हमें देने के लिए यहाँ क्लिक करें

हर रोज ताजा खबरें तुरंत पढ़ने के लिए हमारे ऐंड्रोइड ऐप्प डाउनलोड कर लें
आपके मोबाइल में किसी ऐप के माध्यम से जावास्क्रिप्ट को निष्क्रिय कर दिया गया है। बिना जावास्क्रिप्ट के यह पेज ठीक से नहीं खुल सकता है ।