बदहाली झेल रही है कल्यानेश्वरी डाकघर

माँ कल्याणेश्वरी मंदिर के निकट पीएचईडी परिसर स्थित एक मात्र यहाँ के डाकघर (पोस्ट ऑफिस) बदहाली झेलने पर विवश है। यू कहे तो यहाँ आज चिराग तले अंधेरा वाली कहावत चरितार्थ हो रही है। आलम यह है कि जिस पीएचईडी से पूरे पश्चिम बर्धमान जिले भर में पेय जल सप्लाई किया जाता है। इस डाकघर के कर्मचारी आज 5 साल से एक एक बूंद पानी को तरस रहे है। विडंबना यह है कि पीएचईडी की ओर से डाकघर के लिए आवंटित किया गया भवन पूर्ण रूप से जर्जर हो चुकी है।

यहाँ कार्यरत कर्मचारियों का कहना है कि मामले को लेकर पीएचईडी अधिकारियों से कई बार निवेदन किया गया है। किंतु हर बार मामले को अनसुना कर दिया गया। स्थानीय लोगों द्वारा भी डाकघर की मरम्मत हेतु संयुक्त आवेदन दिया गया है। किंतु मामला जस की तस बनी हुई है। स्थानीय लोगों ने बताया कि डाक घर की दरवाजा, चौखट समेत खिड़की तक खराब हो चुकी है।बारिश में पूरे परिसर में पानी भर जाता है। साथ ही कर्मचारियों ने बताया कि परिसर में जंगल झाड़ी होने के कारण अब् जहरीले साँप भी डाक घर में प्रवेश कर जातें है।

अलबत्ता स्थिति ऐसी ही रही तो डाक घर स्थान्तरण कर दिया जाएगा। स्थानीय लोगों का कहना है कि कल्याणेश्वरी क्षेत्र में यह इकलौता डाक घर है। जिससे आस-पास के लोगों को सुविधा उपलब्ध होती है। यहाँ के लोग पहले से ही बैंक नहीं होने की असुविधा झेल रहे है। ऐसे में एक मात्र डाकघर भी बंद हो जाने से क्षेत्र अंधकार मय हो जाएगा। मामले को लेकर पीएचईडी अधिकारियों से सम्पर्क करने का प्रयास किया गया किन्तु कार्यालय से सभी नदारद होने के कारण संपर्क नहीं हो पाया।

Last updated: अगस्त 7th, 2018 by Guljar Khan

Guljar Khan Guljar Khan
Correspondent : Salanpur (Pashchim Bardhman: West Bengal)
अपने आस-पास की ताजा खबर हमें देने के लिए यहाँ क्लिक करें

हर रोज ताजा खबरें तुरंत पढ़ने के लिए हमारे ऐंड्रोइड ऐप्प डाउनलोड कर लें
आपके मोबाइल में किसी ऐप के माध्यम से जावास्क्रिप्ट को निष्क्रिय कर दिया गया है। बिना जावास्क्रिप्ट के यह पेज ठीक से नहीं खुल सकता है ।