एस.सी/ एस.टी ऐक्ट में बदलाव के खिलाफ 2 अप्रैल को भारत बंद

भारतीय संविधान में अनुसूचित जाति एवं जनजाति को दी गई सामाजिक सुरक्षा के अधिकार पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा हाल में दिए गए फैसले के विरोध में सोमवार को आयोजित भारत बंद की सफलता को लेकर एससी-एसटी संघ के लोगों द्वारा शहर में मशाल जुलूस निकाला गया.वार्ड पार्षद जॉन मिल्टन पासवान एवं शिक्षक नेता सत्यप्रकाश पासवान के नेतृत्व में मशाल जुलूस में शामिल कई लोगों ने शहर में घूम-घूमकर दुकानदारों एवं आम लोगों से सोमवार को अपनी-अपनी दुकान, प्रतिष्ठान व रेल और सड़क के वाहनों को बंद रखकर संविधान की रक्षा करने में एकजुटता का परिचय देने की गुजारिश की .

मशाल जुलूस में शामिल लोगों ने शहीद द्वार के समीप पहुँचकर केंद्र सरकार के विरूद्ध नारेबाजी करते हुए करीब आधा घंटा तक सड़क जाम कर दिया. इसके पूर्व संतर मुहल्ला स्थित काली स्थान के समीप से निकलकर मशाल जुलूस शहीद द्वार पर पहुँचा. इस अवसर पर जान मिल्टन पासवान ने कार्यकर्ताओं से सोमवार को संवैधानिक तरीके से शांतिपूर्वक भारत बंद कार्यक्रम को पूर्ण रूपेण सफल बनाने की अपील की. मशाल जुलूस में बबलू पासवान, संजय चौधरी, विजय रजक, स्नेही पासवान सहित कई लोग मौजूद थे.
गौरतलब है कि हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने एस.सी/ एस.टी ऐट्रोसिटी ऐक्ट में बदलाव करते हुये किसी भी सरकारी अधिकारी की बिना जाँच गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है।

Last updated: अप्रैल 1st, 2018 by Sanjeev Kumar Gandhi

अपने आस-पास की ताजा खबर हमें देने के लिए यहाँ क्लिक करें

हर रोज ताजा खबरें तुरंत पढ़ने के लिए हमारे ऐंड्रोइड ऐप्प डाउनलोड कर लें
आपके मोबाइल में किसी ऐप के माध्यम से जावास्क्रिप्ट को निष्क्रिय कर दिया गया है। बिना जावास्क्रिप्ट के यह पेज ठीक से नहीं खुल सकता है ।