दुर्गापुर महकमा हस्पताल बना दो नवजातों का घर

माँ-बाप ने ठुकराया, अस्पताल ने अपनाया

दुर्गापुरः शुक्रवार की सुबह को विधान नगर मैं स्थित महात्मा हस्पताल में 2 बच्चो का अन्नप्राशन किया गया इस मौके पर उपस्थित हस्पताल के मुख्य चिकित्सक देबब्रत दास सहित डॉक्टर और नर्स मौजूद थे जानकारी के मुताबिक 30 दिसंबर को एक माँ ने बच्ची का जन्म दिया था उसके बाद वहां से छोड़कर भाग निकली उसके बाद अस्पताल के नवजात शिशु केंद्र में रखा गया तथा इसकी मां को खोजने का प्रयास किया गया मगर वह नहीं मिली तब से वह बच्ची नवजात शिशु केंद्र नहीं रखा गया और उसकी अस्पताल के नर्सों द्वारा देख-रेख की जा रही थी इसकी सूचना एनटीएस थाने में की गई थी ताकि कोई अगर खोजें तो उसे पता चल पाए किंतु उसके मां का पता नहीं चल पाया उसके बाद अस्पताल में ही बच्ची पल रही थी । इस घटना के ठीक 3 दिन बाद नवजात शिशु केंद्र मैं एक सज्जन व्यक्ति एक अन्य बच्चे को ले पहुंचे और नर्स से कहा कि बच्चा कुछ खा नहीं रहा है सिर्फ रो रहा है थोड़ा सा इसको देखिए उसके बाद ही नर्स ने बच्चे को भीतर ले जाकर उसे दूध पिलाया और बाहर निकल कर देखा तो सज्जन व्यक्ति वहां से निकल चुके थे नर्सों ने उन्हें खोजने की कोशिश की मगर वह सज्जन व्यक्ति नहीं मिल पाए उसके बाद एनटीपीएस थाना में शिकायत दर्ज की गई वह भी बच्चा अस्पताल में ही पल रहा है। उन दोनों बच्चों का आज सुबह अन्नप्राशन किया गया अस्पताल के मुख्य चिकित्सक देबब्रतो ने उन दोनों बच्चों के मुंह में अन्न खिलाया यह सारी व्यवस्थाएं अस्पताल की नर्सों ने की थी नर्स पंपा बनर्जी सुतपा हाजरा ने बताया कि एक बच्ची और एक बच्चा दोनों ही अस्पताल में पल रहे हैं जिनकी देखभाल नर्सों के द्वारा ही की जा रही है।

Last updated: सितम्बर 1st, 2017 by Pankaj Chandravancee
Pankaj Chandravancee
Chief Editor (Monday Morning)
अपने आस-पास की ताजा खबर हमें देने के लिए यहाँ क्लिक करें

हर रोज ताजा खबरें तुरंत पढ़ने के लिए हमारे ऐंड्रोइड ऐप्प डाउनलोड कर लें
आपके मोबाइल में किसी ऐप के माध्यम से जावास्क्रिप्ट को निष्क्रिय कर दिया गया है। बिना जावास्क्रिप्ट के यह पेज ठीक से नहीं खुल सकता है ।