ड्रोन कैमरा से पूरे श्रावणी मेले पर रहेगी निगरानी, व्हाट्सऐप ग्रुप से होगी त्वरित कार्यवाही

दुमका के उपायुक्त मुकेश कुमार की अध्यक्षता में प्रशासनिक भवन बासुकिनाथधाम में आगामी राजकीय श्रावणी मेला महोत्सव 2018 से संबंधित बैठक आयोजित की गई। बैठक में सभी संबंधित विभाग के अधिकारी उपस्थित थे। बैठक के बाद उपायुक्त मुकेश कुमार ने बासुकीनाथ धाम में श्रावणी मेला महोत्सव 2018 की तैयारियों की अद्यतन स्थिति का जायजा लेने के उपरांत हँसडीहा पहुँचकर श्रद्धालुओं के लिए की जा रही व्यवस्थाओं का अवलोकन किया । इस दौरान उन्होंने सुखजोरा एवं मोतिहारा पूल के आस-पास पर्याप्त रौशनी की व्यवस्था करने का निदेश संबंधित अधिकारी को दिया ।इस दौरान पूर्व सांसद अभय कांत प्रसाद, पुलिस अधीक्षक किशोर कौशल, उप विकास आयुक्त वरुण रंजन, प्रशिक्षु आईएएस शशि प्रकाश, धर्मरक्षिणी सभा के अध्यक्ष मनोज पंडा तथा सभी संबंधित विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

मंदिर परिसर के ग्राउंड वायरिंग का काम पूरा करने का निर्देश

बैठक में उपायुक्त ने विद्युत विभाग के अधिकारी को निर्देश दिया कि मंदिर परिसर के ग्राउंड वायरिंग का काम को पूरा कर विधिवत रूप से उसका चेकअप कर ले ताकि मेला के दौरान किसी प्रकार की परेशानी ना हो। कांवरिया पथ पर सभी पोल के तारों को अच्छी तरह से टाइट किया जाए।

सभी विद्युत पोल के तारों को मेला से पूर्व हर हाल में दुरुस्त करने का निर्देश

हंसडीहा से दर्शनीया टीकर, नंदी चैक से मंदिर तक तथा दुमका-देवघर रूट लाइन के सभी विद्युत पोल के तारों को मेला से पूर्व हर हाल में दुरुस्त कर लें। उन्होंने कहा कि अनुमंडल पदाधिकारी प्रमाण पत्र निर्गत करेंगे कि विद्युत विभाग द्वारा सारे कार्य पूर्ण कर लिए गए हैं। मेला के दौरान 24×7 विद्युत आपूर्ति हर हाल में बहाल किया जाए।

पूरे मेला क्षेत्र में रहेंगे डिजाइनर लाइट व साज-सज्जा

उन्होंने कहा कि पूरे मेला क्षेत्र में डिजाइनर लाइट, साज-सज्जा का कार्य अविलम्ब पूरा कर लिया जाए। मेला के दौरान अस्थाई ओपी बनाए जाएँगे जिसमें सभी संबंधित विभाग के अधिकारी 24×7 उपस्थित रहेंगे तथा प्राप्त शिकायतों का निष्पादन अविलम्ब करेंगे। ये सभी ओपी सिंगल विंडो सिस्टम की तरह कार्य करेंगे, जिससे श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की परेशानी नहीं होगी। उन्होंने कहा कि बासुकिनाथ नगर निकाय क्षेत्र में पर्याप्त रौशनी की व्यवस्था की जाए। नंदीचैक से लेकर मंदिर परिसर तक लाइटिंग की बेहतर व्यवस्था हो। रिक्शा स्टैंड की वैकल्पिक व्यवस्था की जाए। शिवगंगा के चारों और स्पाइरल लाइटिंग लगाई जाए साथ ही शिवगंगा की साज-सज्जा की पूरी व्यवस्था की जाए। हाई मास्क लाइट लगाए जाएं।

WhatsApp ग्रुप से होगी त्वरित कार्यवाही

उन्होंने कहा कि श्रावणी मेला के दौरान सूचनाओं के संप्रेषण एवं कार्यवाही के लिए WhatsApp ग्रुप बनाया जाएगा। WhatsApp ग्रुप में सभी विभागीय अधिकारी रहेंगे तथा WhatsApp से प्राप्त शिकायतों पर संज्ञान लेते हुए अविलम्ब कार्यवाही की जायेगी। इस वर्ष पूरा मेला क्षेत्र सीसीटीवी कैमरा की निगरानी में होगा। ड्रोन कैमरा से विभिन्न जगहों पर नजर रखी जायेगी।

श्रद्धालुओं के लिए टेंट सिटी का निर्माण

उन्होंने कहा कि बासुकिनाथधाम में श्रद्धालुओं के आवासन के लिए टेंटसिटी का निर्माण कराया जा रहा है साथ ही श्रावणी मेला के दौरान प्रतिनियुक्त सुरक्षाबलों के आवासन के लिए भी 250 क्षमता वाला टेंटसिटी का निर्माण किया जाएगा। सरैयाहाट में 100 बेड वाला टेंट सिटी बनाया जाएगा। उन्होंने श्रद्धालुओं के आवासन के लिए बन रहे टेंटसिटी तथा सूचना जनसंपर्क विभाग द्वारा बनाए जा रहे आवासन केंद्र की अद्यतन स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने संबंधित अधिकारी को निर्देश दिया कि जल्द से जल्द आवासन केंद्र अस्थाई अस्पताल के निर्माण का कार्य पूरा कर लिया जाए।

स्कूल बंद नहीं होंगे

उन्होंने कहा कि श्रावणी मेला के दौरान किसी भी स्कूल को किसी भी परिस्थिति में बंद नहीं कराया जाए। बच्चों की पढ़ाई में किसी प्रकार का कोई नुकसान ना हो।

पेयजल एवं स्वच्छता पर विशेष ध्यान

उन्होंने पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के अधिकारी को निर्देश दिया कि श्रावणी मेला के दौरान शौचालय की बेहतर व्यवस्था हो साफ सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाए। उन्होंने कहा कि जगह-जगह साइनेज लगाए जाएं ताकि श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की परेशानी ना हो। मेला के दौरान नंदी चौक से लेकर मंदिर परिसर की ओर जाने वाले सड़क पर कम से कम गाड़ियों का आवागमन हो इसे सुनिश्चित किया जाए। पूरे मेला क्षेत्र में समय-समय पर फाॅगिंग कराया जाए। ब्लीचिंग पाउडर का भी छिड़काव किया जाए। इसके उपरांत उपायुक्त ने मेला क्षेत्र का भ्रमण कर संबंधित अधिकारियों को कई महत्त्वपूर्ण निर्देश दिए।

13 स्वास्थ्य केंद्र पर सभी सुविधाओं के साथ डॉक्टर रहेंगे तैनात

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी को निर्देश दिया कि स्वास्थ्य केंद्रों में पर्याप्त संख्या में दवाईयाँ एवं स्वास्थ्य कर्मी उपस्थित रहे। मेला के दौरान श्रद्धालुओं को सभी जरूरी दवाईयाँ, ओआरएस उपलब्ध कराई जाए। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य केंद्र जरमुंडी पर ज्यादा भार ना पड़े इसके लिए 20 बेड वाले वातानुकूलित अस्पताल का निर्माण किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि श्रावणी मेला के दौरान 13 स्वास्थ्य केंद्र बनाए जाएँगे। सभी जगहों पर डॉक्टर जरूरी दवाओं के साथ उपलब्ध रहे इसे सुनिश्चित किया जाए। मेला के दौरान खोया-पाया केंद्र बनाया जाए। उन्होंने संबंधित विभाग के अधिकारी को निर्देश दिया कि वाटर एटीएम स्थापित करने का कार्य जल्द से जल्द शुरू करें।

सभी विभाग को आपस में समन्वय बनाकर काम करने का निर्देश

उन्होंने कहा कि सभी विभाग आपस में समन्वय बनाकर मेला को सफल बनाने का कार्य करें। किसी भी कार्य को होल्ड पर ना रखें। श्रद्धालुओं को पेयजल की समस्या ना हो इसे ध्यान में रखते हुए पर्याप्त संख्या में पानी टंकी की व्यवस्था की जाएगी। पूरे रूट लाइन में पीसीआर वैन अपनी नज़र बनाये रखेंगे ताकि कोई भी असामाजिक तत्व विधि व्यवस्था न बिगाड़ सके ।

डाक बम के लिए विशेष सुविधा

उन्होंने संबंधित अधिकारी को निर्देश दिया कि सोमवार एवं मंगलवार को डाक बम बाबा पर जलार्पण करने इस रास्ते से पहुँचते हैं जिसे ध्यान में रखते हुए विशेष ध्यान रखा जाए । उन्होंने कहा कि श्रद्धालुओं के लिए बेहतर आवासन केंद्र, स्वास्थ्य केंद्र, अस्थाई शौचालय की व्यवस्था की जाएगी । पर्याप्त संख्या में पानी टंकी उपलब्ध होगा ताकि श्रद्धालुओं को पेयजल की समस्या ना हो ।

इस खबर के प्रायोजक हैं : Bengal Press - Asansol

यहाँ सभी प्रकार की मल्टी कलर ऑफसेट , स्क्रीन एवं फ़्लेक्स की प्रिंटिंग सबसे कम कीमत पर की जाती है।
Last updated: जुलाई 16th, 2018 by Ram Jha

Ram Jha Ram Jha
Correspondent , Madhupur (Jharkhand)
अपने आस-पास की ताजा खबर हमें देने के लिए यहाँ क्लिक करें

हर रोज ताजा खबरें तुरंत पढ़ने के लिए हमारे ऐंड्रोइड ऐप्प डाउनलोड कर लें
आपके मोबाइल में किसी ऐप के माध्यम से जावास्क्रिप्ट को निष्क्रिय कर दिया गया है। बिना जावास्क्रिप्ट के यह पेज ठीक से नहीं खुल सकता है ।