गाड़ी बंदी के आदेश पर ड्राइवरों में फूटा आक्रोश , बंगाल क्या हिंदुस्तान से बाहर है साहब ?

बंगाल हिंदुस्तान से बाहर है क्या साहब ?

कल्याणेश्वरी । पिछले चार दिन से नहाया नहीं हूँ, एक एक बूंद पानी को तरस रहे है, हमलोग । ब्रिज तो कोलकाता में टूटा है साहब, किसी को पानागढ़, बर्धमान तो किसी को दानकुनी जाना है, उक्त बातें पंजाब से दानकुनी माल लेकर जा रहे चालक कुलबीर सिंह जाम के दौरान प्रशासन से कह रहे थे, उन्होंने कहा कि बंगाल हिंदुस्तान से बाहर है क्या जहाँ बिना सोचे समझे कोई भी आदेश जारी कर दिया जाता है । चालक बहादुर सिंह ने कहा कि बंगाल पुलिस प्रवेश नहीं करने दे रही है, और झारखण्ड पुलिस पार्किंग नहीं करने दे रही है, दोनों तरफ से हमलोग धक्के खा रहे है । चालक सुखविंदर सिंह ने कहा कि बंगाल सरकार की तानाशाही आदेश ने गाड़ी मालिक और चालकों को मौत के मुँह पर लाकर खड़ा कर दिया है, किसी गाड़ी का एक लाख तो किसी का दो लाख क़िस्त है, पाँच दिन से बॉर्डर पर खड़े रहने के कारण भारी नुकसान हो रही है, साथ में जिसका माल है उससे भी गाली खा रहे है ।

केंद्र सरकार की नोट बंदी और बंगाल सरकार की गाड़ी बंदी एक ही सामान प्रतीत हो रही है

पंजाब लुधियाना से आए चालक जरनैल सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार की नोट बंदी और बंगाल सरकार की गाड़ी बंदी एक ही सामान प्रतीत हो रही है । इस तुगलकी फरमान के कारण बंगाल को जाने वाली लगभग डेढ़ हजार गाड़िया बॉर्डर से पीछे सड़क पर खड़ी रहने को विवश है । राजस्थान से आए चालक जफरू खान ने कहा कि सड़क पर ही जान दे देंगे किन्तु वापस नहीं जायेंगे चाहे प्रशासन गोली मार दे । मौके पर वर्नाला से लखबीर सिंह, कुलदीप सिंह, काश्मुद्दीन, दिल मोहम्मद, अजमेर से सत्यनारायण गुज्जर, राजनाथ योगी, राकेश जाटव, अलवर असरु खान, दिनेश किश्नोई, जोधपुर, सेठी बिश्नोई, अवदेश यादव कोडरमा, समेत सैकड़ों की संख्या में चालक उपस्थित थे ।

जाम से होटल संचालकों की चांदी

सड़क पर प्रदर्शन करते वाहन चालक 

विगत तिन चार दिनों से लग रही जाम के कारण यहाँ राजमार्ग के दोनों छोर पर स्थित होटलों की चांदी हो गयी है । बलिया से आए चालक अरबिंद यादव ने कहा कि 15 रुपये वाली पानी की बोतले होटल वाले 30 रुपये तक बेच रहे है । भारी जाम के कारण एक एक ट्रक वाले दिनभर में 10 बोतल पानी खरीद कर पीने को विवश है । जोधपुर से आए चालक रामदीन किश्नोई ने कहा कि होटलों में भारी भीड़ के कारण खाने की हर वस्तु महंगी हो चुकी है ऐसे में चालक और खलासी को आधा पेट खाना पड़ है ।

पुलिस द्वारा 20 चक्का से ऊपर के वाहनों की बनायी जा रही है सूची

प्रदर्शन कर रहे चालकों की मांग पर बंगाल पुलिस द्वारा सकारात्मक पहल करने के आश्वासन के बाद चालक शांत हुए . 20 चक्का तथा उससे ऊपर पहिये वाली वाहनों की सूचि बनाकर बंगाल के वरिष्ठ अधिकारियों के अनुमति मिलने के बाद बंगाल प्रवेश करने की अनुमति पर सहमती बनी किन्तु कोलकाता में किसी भी शर्त पर वाहनों को प्रवेश नहीं करने दिया जायेगा . हालाँकि चालकों का भी यही मांग है  कि  वाहनों को कोलकाता छोड़कर अन्य शहरों में प्रवेश की अनुमति दे दी जाये । कुछ कोलकाता माल लेकर जा रहे चालकों ने कहा कि दानकुनी तक उन्हें जाने दिया जाये वहाँ अपने ट्रक को खाली कर छोटे वाहनों के सहारे माल को कोलकाता भेज देंगे । हालाँकि किसी भी पुलिस अधिकारी द्वारा उपरोक्त पहल की पुष्टि नहीं कि गयी है।  मौके पर उपस्थित डीसीपी(एच क्यू) अभिषेक गुप्ता ने कहा कि सरकारी आदेश के तहत भारी वाहनों को रोका जा रहा है, जो अगले आदेश आने तक जारी रहेगा ।  आसनसोल दुर्गापुर पुलिस यातायात को सुदृढ़ बनाने के लिए तत्पर है । किसी को भी परेशान नहीं होने दिया जायेगा ।

आईपीएस से लेकर रैफ तक की तैनाती

तैनात पुलिसकर्मी 

सुबह 10 बजते ही ट्रक चालकों का गुस्सा सातवें असमान पर पहुँच चुका था , स्थानीय चौरंगी फांड़ी प्रभारी अनंत रॉय अपने दल बल को लेकर जाम स्थल पर पहुँचें और चालकों को काफी समझाने का प्रयास किया किन्तु सैकड़ों की संख्या में चालक  मार्ग को पूरी तरह ट्रक से बाधित कर आन्दोलन कर रहे थे और बंगाल प्रवेश की जिद पर अड़े थे । चालकों का गुस्सा सातवें असमान पर था ।  उनलोगों ने विपरीत झारखण्ड को भी जाने वाली मार्ग को कुछ समय के लिए अवरुद्ध कर दिया जिससे चरों और वाहनों की लम्बी कतार लग गयी साथ ही निजी छोटे वाहनों को भी भारी समस्या हुई इधर घटना की सूचना मिलते ही आसनसोल दुर्गापुर पुलिस मुख्यालय में हड़कंप मच गयी और देखते ही देखते डिबूडीह चेक पोस्ट पुलिस छावनी में तब्दील हो गयी . मौके पर पुलिस बल बंगाल आर्म्स पुलिस के साथ भारी संख्या में रैफ की भी तैनाती की गयी थी, घटना की अगुवाई में डीसीपी (एचक्यू) अभिषेक गुप्ता (आईपीएस), एडीसी(सेन्ट्रल) सायंक दास (आइपीएस), एडीसीपी (वेस्ट) अनामित्रा दास, एसीपी(वेस्ट) संतोब्रतो चंदा, एसीपी प्रशांत कुमार दास, कुल्टी थाना प्रभारी राजू स्वर्णकार, इंस्पेक्टर इंचार्ज योगेन्द्र कुमार रॉय, चौरंगी फांड़ी प्रभारी अनन्तो रॉय, समेत अन्य वरिस्ट पुलिस अधिकारी उपस्थित थे ।

मौके पर निरसा एसडीपीओ विजय कुमार चौरसिया, निरसा थाना प्रभारी सुषमा कुमारी, चिरकुंडा इंस्पेक्टर, मैथन थाना प्रभारी समेत अन्य उपस्थित थे ।


(फोटो : कौशिक मुखर्जी )

Subscribe Our Channel

Last updated: सितम्बर 12th, 2018 by Guljar Khan

  • ताजा अपडेट
    विज्ञापन
  • ट्रेंडिंग
    ✉ mail us(mobile number compulsory) : mondaymorning.editor@gmail.com