नियोती साहा पंचतत्व में विलीन,छोटे पुत्र ने ही किया था माँ का क़त्ल

सालानपुर| नन्ही -नन्ही उँगलियों को पकड़ कर माँ ने जिस बेटे को चलना सिखाया था, आँचल की छांव में जिसे सुलाकर लोरी सुनाया करती थी, अब उसी बेटे ने बड़े होकर माँ को खंजर से लहूलुहान कर दिया, दौलत की अंधी चाहत ने माँ की ममता को दुनिया में शर्मसार कर दिया|

आज भी यहाँ की गलियों में कई माँ के मुँह से एक ही शब्द निकल रही है, ऐसा बेटा जन्म लेते ही क्यों नहीं मर गया| जी हाँ यह दास्तान है, सालानपुर थाना अंतर्गत रूपनारायणपुर स्थित पश्चिम रंगामटिया ग्रीन पार्क की। जहाँ विगत गुरुवार को एक घर से अभागन माँ का लहूलुहान शव बरामद किया गया था और हत्या का आरोप उनके ही सुपुत्र विश्वनाथ साहा उर्फ़ बिशु पर लगा था| शुक्रवार को जहाँ एक बड़ा बेटा अंत्यपरीक्षण के बाद माँ का शव लेने के लिए आसनसोल जिला अस्पताल में बाट जोह रहे थे तो दूसरी ओर छोटे पुत्र बिशु को पुलिस रिमांड में लेने के लिए न्यायालय में अर्जी लगा रही थी| बताया जाता है कि पुलिस की ओर से बिशु को दस दिन की रिमांड की मांग की गयी थी, किन्तु न्यायालय ने 5 दिन की ही रिमांड स्वीकार की है| दूसरे पुत्र अशोक साहा ने शुक्रवार को अंत्यपरीक्षण के बाद नम आँखों से अपनी माता का अंतिम संस्कार कर दिया|

पुलिस के आगे टूट गया बिशु

माँ का हत्यारा पुत्र विश्वनाथ साहा उर्फ बिशु

बताया जाता है कि खुद को अति चालाक समझने वाले बिशु आखिरकार पुलिस के आगे टूट ही गया, सूत्रों की माने तो बिशु ने अपने एक-एक काली करतूत की दास्तान पुलिस को बता दी है| बताया जाता है कि मामले को लेकर रूपनारायणपुर फांड़ी प्रभारी सिकंदर आलम ने अपने सूझ-बुझ का परिचय देते हुए कातिल का कुकर्म समय रहते ही भाँप गए थे| छोटे पुत्र की बार-बार पुलिस के समक्ष ही ताला तोड़ने की हठ ने पुलिस की छठी ज्ञानेन्द्रिया खोल दी। पुलिस की तत्परता से समय रहते कातिल की गिरेबान तक हाथ पहुँच जाने से एक बार फिर पुलिस के प्रति लोगों की विश्वास बुलंद हुआ है| हालाँकि सूत्रों की माने तो बिशु की पाच दिन के रिमांड में और भी कई अनसुलझी सवालों की कड़ियों को पुलिस जोड़कर गुनाह की किताब में अपराधी के लिए फिर से नया अध्याय लिखेंगे|

Last updated: अगस्त 3rd, 2018 by Guljar Khan


सर्वश्रेष्ठ दुर्गापूजा चुनिये और पाइए दस हजार नकद ईनाम, “एलएडी  टीवी” और भी बहुत कुछ

  • ताजा अपडेट
    विज्ञापन
  • ट्रेंडिंग
    ✉ mail us(mobile number compulsory) : mondaymorning.editor@gmail.com