चेन छिनतई के आरोप में सात महिलायेंं गिरफ्तार, सभी आपस में तमिल में करती है बात

सालानपुर। भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा में दूषित मन से पहुँचे 7 महिलाओं को आखिरकार जेल यात्रा करना पड़ा । घटना शुक्रवार देर संध्या की है। सालानपुर थाना क्षेत्र के विभिन्न इलाक़ों में भगवान जगन्नाथ की मौसी घर से वापसी की रथ यात्रा धूमधाम से निकली थी । इस दौरान महिलाओं की भारी भीड़ में चेन छिनताई गिरोह की दर्जन भर महिलायेंं भी शामिल होकर हाथ की सफाई कर रही थी।

पहली घटना सलानपुर में 83 वर्षीय वृद्ध महिला सारथी मंडल के साथ घटी । रथ यात्रा के दौरान रस्सी खींचने के क्रम में कुछ महिलाओं नेे उन्हें धक्का दिया । किनारे हटते ही गले से 15 ग्राम की सोनेे की चेन गायब थी।

दूसरी घटना डाबर मोड़ की है जहाँ रस्सी खींचने के दौरान 35 वर्ष के गीता देवी को गिरोह की महिलाओंं ने अपना निशाना बनाया और उनके गले से 12 ग्राम की सोने की चेन छीन लिया।

एक भुक्तभोगी महिला ने धर-दबोचा

रथयात्रा डाबरमोड़ आमडागा पहुँचते ही गिरोह की महिलाओं ने संध्या रानी की गले में दो भरी की सोनेे की चेन पर झपट्टा मार कर गायब कर दिया । भुक्तभोगी महिला संध्या रानी ने बहादुरी से तत्परता दिखाते हुए एक महिला को धर दबोचा और गुत्था-गुत्थी होने लगी।

घटना देख कर बीच-बचाव में आई गिरोह की महिलाओं ने इसी बीच आरोपी महिला के हाथ से चेन लेकर दूसरी महिला को पार्सल कर दिया किंतु भुक्तभोगी महिला संध्या रानी ने उस महिला को दबोचे रखा ।

घटना की सूचना मिलते ही मौके पर तैनात महिला पुलिस बल व महिला सीपीवीएफ़ ने आरोपी महिला को अपने कब्जे में ले लिया। तत्पश्चात पुलिस ने सक्रियता दिखाते हुए बाहरी तथा अनजान महिलाओं की मॉनिटरिंग शुरू कर दी।

भागने के क्रम में गिरोह की कुछ महिला ऑटो स्टैंड में ऑटो लेने पहुँची जहाँं ऑटो चालकों ने मामले की जानकारी पुलिस को दी एवं महिलाओं को हिरासत मेंं ले लिया गया। हालांकि देर रात तक महिला पुलिस की मौजूदगी में सभी 7 महिलाओं से पूछताछ किया गया किंतु उनके पास से कुछ भी बरामद नहींं हो सका । गिरफ्तार सभी सात महिलाओंं के साथ एक दूध मुँहा बच्चा भी शामिल है।

आधे घंटे के भीतर ही वकील पहुँच गए

अंदेशा लगाया जा रहा है कि गिरोह की अन्य महिला चोरी की सामान लेकर मौके से फरार हो गई है, इस बात का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि गिरोह के महिलाओं के गिरफ्तार होने के आधे घंटे के अंदर ही उनके वकील रूपनारायणपुर फांड़ी पहुँच चुके थे और उन्हें छुड़ाने के लिए पैरवी भी शुरू कर दी थी।

सभी आरोपी महिलायेंं तमिल में बात करती है

महिलाओं के संदर्भ में बताया जाता है कि सभी आपस में तमिल भाषा में बात करती है। उक्त महिला गिरोह विभिन्न राज्यों में सक्रिय होकर क्षेत्र में आयोजित उत्सव में शामिल होकर घटना को अंजाम देती है।

फिलहाल पुलिस महिलाओं की पहचान एवं नाम को गुप्त रखकर मामले की छानबीन कर रही है । सभी आरोपी महिलाओं को शनिवार को आसनसोल स्थित न्यायालय केे समक्ष प्रस्तुत कर रिमांड की मांग की गई है।

सूत्रोंं से मिली जानकारी के अनुसार कुछ वर्ष पूर्व धनबाद जिला के निरसा थाना अंतर्गत आयोजित एक यज्ञ से इसी तरह कुछ महिलाओं को गिरफ्तार किया गया था।

Last updated: जुलाई 14th, 2019 by Guljar Khan

Subscribe Our YouTube Channel for instant Video News Uploaded

आपके मोबाइल में किसी ऐप के माध्यम से जावास्क्रिप्ट को निष्क्रिय कर दिया गया है। बिना जावास्क्रिप्ट के यह पेज ठीक से नहीं खुल सकता है ।