रेलवे ने माल भाड़े में 8.75 फीसदी की बढ़ोत्तरी की

भारतीय रेलवे ने समूचे नेटवर्क में यात्री सुविधाओं में सुधार हेतु अतिरिक्त राजस्व सुनिश्चित करने के लिये अपने भाड़े की दरों का पुनर्गठन किया है ।भाड़े की दरें पुनर्गठित करने के परिणामस्वरूप प्रमुख वस्तुओं जैसे कोयला, लोहा एवं स्टील, लोह अयस्क, एवं स्टील संयंत्रों के लिये कच्चे माल के भाड़े की दरों में 8.75% की वृद्धि होगी । इसके अतिरिक्त कंटेनर ढुलाई के शुल्क में 5% की एवं अन्य छोटी वस्तुओं के माल भाड़े में 8.75% की वृद्धि की गई है ।

यद्यपि किसानों एवं आम आदमी को दृष्टिगत रखते हुए खाद्यान्न, आटे, दालों, खाद, नमक एवं चीनी के लिये माल भाड़े में बढ़ोत्तरी नहीं कि गई है । इसके अलावा सीमेंट एवं पेट्रोलियम पदार्थों (डीज़ल समेत) के लिये माल भाड़े में बढ़ोत्तरी नहीं कि गई है । माल भाड़े की दरें पुनर्गठित किये जाने से भारतीय रेलवे को 3,344 करोड़ रुपये का अतिरिक्त राजस्व अर्जित होगा । यह अतिरिक्त राजस्व रेलवे के लिये सुरक्षा, सेवा एवं समयपालन इत्यदि से संबंधित अनेक आयामों में सुधार करने में मददगार सिद्ध होगा ।

Subscribe Our YouTube Channel for instant Video Upload

Last updated: नवम्बर 6th, 2018 by Jahangir Alam