बंद कमरे से वृद्धा का शव खुन से लथपथ मिला, छोटे पुत्र पर हत्या का संदेह

सालानपुर| सालानपुर थाना अंतर्गत रूपनारायणपुर रंगामटिया ग्रीन पार्क स्थित एक बंद मकान से रूपनारायणपुर पुलिस ने 68 वर्षीय नियोती साहा का शव बरामद की| स्थानीय लोगों ने बताया वृद्ध महिला के दो पुत्र है| बड़ा पुत्र अशोक साहा आसनसोल अपकार गार्डन में रहता है, जबकि छोटा पुत्र बिस्वनाथ साहा उर्फ़ बिशु चितरंजन एरिया 6 में रहता है, और वह एक निजी बिमा कंपनी में कार्यरत है| बड़े पुत्र की माने तो उनकी माँ यहाँ घर पर अकेली ही रहती थी और वे प्रतिदिन नियमित रूप से अपनी माँ को फ़ोन किया करता था|

बुधवार को भी उन्होंने अपनी माँ से बात की थी, हालाँकि दुबारा फ़ोन रिसीव नहीं होने पर वे रूपनारायणपुर स्थित अपने घर पहुँचे जहाँ उन्होंने घर पर ताला बंद पाया जिसके बाद उन्होंने छोटे भाई बिशु से संपर्क साधा जिसपर उन्होंने जानकारी नहीं होने की बात कही| साथ बुधवार को घर नहीं आने की बात कही| हालाँकि अशोक ने मामले को लेकर स्थानीय पुलिस से भी संपर्क साध कर गुमसुदगी का मामला दर्ज करने का प्रयास किया किन्तु पुलिस ने 24 घंटे बाद ही मामला दर्ज करने की बात कही|

इधर स्थानीय लोग तथा पुलिस की मौजूदगी में गुरुवार को बाहर से लगे दोनों मुख्य द्वारा का ताला तोड़ा गया, जिसपर अन्दर का नज़ारा देख सभी हतप्रभ रह गए, वृद्ध महिला की शव एक कक्ष में अर्ध नग्न अवस्था में खून से लथपथ पड़ी थी| इधर घटना क्रम के दौरान ही स्थानीय लोगों ने पुलिस को बताया की मृतक महिला नियोती साहा के छोटे पुत्र बिशु बुधवार की दोपहर 2 बजे घर में ताला बंद करते देखा गया था| जिसके बाद पुलिस नेतत्पश्चात बिशु को हिराशत में ले लिया और उससे गहन पूछ ताछ की जा रही है,

दूसरी और पुलिस अशोक साहा से भी पूछ ताछ कर रही है| इधर पुलिस ने घटना स्थल से एक धान काटने वाली हसिया भी बरामद की है,और शव को अंत्यपरीक्षण के लिए आसनसोल स्थित पश्चिम बर्धमान जिला अस्पताल भेज दिया है| पुलिस के अनुसार शव के परीक्षण के बाद ही हत्या और मौत की कारणों का पता चल पायेगी| फिलहाल पूरे मामले में पुलिस कुछ भी बताने से परहेज कर रही है|

पुत्र ने माँ को दिया था जान से मारने की धमकी

सालानपुर| एक वृद्ध महिला की निर्मम हत्या जिसने भी सुनी सबके मुँह से हाय ही निकाल रही थी| 68 वर्षीय महिला नियोती साहा की दो संतान होने के बावजूद भी वो आखिर अकेली रहने पर विवश क्यों थी, इसी प्रकार की अनोकों अनसुलझी सवालों को नियोती अपने पीछे छोड़ गयी है, अलबत्ता अब पुलिस सभी कड़ियों को जोड़ कर कातिल को सलाखों के पीछे पहुँचाने की प्रयास कर रही है| बताया जाता है कि मृतिका नियोती साहा के पति स्व० आदित्यो साहा पूर्व चिरेका कर्मी थे| जो वर्ष 2004 में सेवानिवृत होने के बाद यहाँ उनके पैसे से निजी निवास का निर्माण कराया गया था|

हलकी कुछ दिनों बाद उनका देहांत हो जाने से नियोती बिल्कुल अकेली हो गयी थी, और अब उनकी निर्मम हत्या कर दी गयी| सूत्रों की माने तो नियोती सहा को चिरेका की ओर से प्रतिमाह 14 हजार की पेंसन प्राप्त होता था| कुछ दिन पूर्व ही छोटे पुत्र बिशु ने अपने माँ से 1 लाख रुपये की मांग की थी अन्यथा परिणाम स्वरूप जान से मार देने की धमकी दी थी| सथानीय लोगों ने बताया की पैसे और जायदाद को लेकर बिशु अक्सर लड़ाई झगड़ा किया करता था|

Subscribe Our YouTube Channel for instant Video Upload

Last updated: अगस्त 2nd, 2018 by Guljar Khan