ईसीएल : डाबर कोलयरी बंद प्रस्ताव को जेसीसी ने ठुकराया

jcc-rejected-dabur-colliery-shutdown-demand

सालानपुर। ईसीएल सालानपुर एरिया अंतर्गत डाबर कोलियरी फेज टू को प्रबंधन द्वारा बंद करने की प्रस्ताव का जेसीसी ने एरिया सभागार में भारी विरोध किया। शनिवार को ईसीएल सालानपुर एरिया महाप्रबंधक प्रशांत कुमार की अगुवाई में बुलाई गई जेसीसी मीटिंग डाबर कोलियरी फेज टू को पूर्ण रूप से बंद करने का प्रस्ताव रखा गया। साथ ही यहाँ कार्यरत कोल श्रमिक तथा खनन मशीनों को गोरांगडीह बेगुनिया कोलियरी भेजने की बात कही।

श्रमिक यूनियन ने प्रस्ताव को किया खारिज

मौके पर पहुँचे विभिन्न श्रमिक संगठनों के प्रतिनिधियों ने प्रस्ताव को सिरे से खारिज कर दिया और किसी भी हाल में फेज टू को बंद नहीं होने की बात कही। तृणमूल श्रमिक संगठन नेता दिनेश लाल श्रीवास्तव बताते है कि कोलियरी प्रबंधन साजिश के तहत डाबर कोलियरी फेज टू(एसीएल) को बंद करना चाहती है जबकि अभी भी यहाँ 50 लाख टन कोयले का भंडार है।

कोयला भंडार सर्वे के बाद होगा निर्णय

एआईंटीयूसी राजेश सिंह ने कहा कि विरोध के बाद निर्णय लिया गया कि एरिया जेसीसी तथा यूनिट जेसीसी की अगुवाई में सर्वेयर टीम कोल भंडारण का निरीक्षण करेगी जिसके बाद ही कोई निर्णय लिया जाएगा । फिलहाल यहाँ से किसी भी प्रकार की मशीन व कर्मचारियों का स्थानांतरण नहीं किया जाएगा।

टार्गेट से अधिक उत्पादन

बीएमएस नेता अजय चक्रवर्ती ने कहा डाबर कोलियरी का टारगेट 11 लाख टन था जिसे मज़दूरों ने अपनी मेहनत से 40 हजार टन अधिक उत्पादन किया है। मौके पर एआईटीयूसी नेता शैलेन्द्र सिंह, आईएनटीटीयूसी नेता शेषनाथ गिरी, सीआईटीयू नेता सुरेश कुमार, एपीएम एमके सिंह, पीएम श्यामल चक्रवर्ती, एजेंट डाबर कोलियरी एनके सिन्हा, एरिया सुरक्षा अधिकारी जेपी सिंह समेत अन्य मौजूद थे।

Subscribe Our YouTube Channel for instant Video Upload

Last updated: अप्रैल 13th, 2019 by Guljar Khan