दादी की सोलह शृंगार, पूजा-अर्चना की गई

धोली सती दादी की वार्षिक महोत्सव सराफ स्मृति भवन में आयोजित हुई। रानीगंज धोली सती प्रचार समिति की ओर से सर्वप्रथम दादी की सोलह सिंगार, पूजा-अर्चना की गई। उसके उपरांत कोलकाता से आए धोली सती दादी प्रचार समिति के सदस्यगण ने सामूहिक भजन कीर्तन का शुभारंभ कीया।

उसके पश्चात कोलकाता के सुप्रसिद्ध भजन गायक विकास शर्मा के सानिध्य में भजन संध्या का आयोजन हुआ।दादी की सोलह सिंगार पर प्रस्तुति दादी तू बड़ी न्यारी लगती है, तेरे बिना और कोई ना मेरा तू ही मेरा पालनहार… ऐसे महत्त्वपूर्ण भजन से श्रोताओं को मन मोह लिया। तेरी याद सताती है, माँ एक बार तू यहाँ आजा। इस अवसर पर माँ की चुनरी व प्रसाद पर भी विशेष प्रस्तुति की गई।

सामूहिक कीर्तन का दौर चला। संयोजन कर्ताओं की ओर से विमल कुमार सराफ ने बताया कि इस वर्ष भी हम लोग वार्षिक उत्सव यहाँ मना रहे हैं, हम लोगों के कुल देवता के रूप में धोली सती दादी है, जो माँ दुर्गा की अवतार है। यहाँ पूजा अर्चना करने से वह सब कुछ मिलता है जो एक मानव जीवन को जरूरत है।

Subscribe Our YouTube Channel for instant Video Upload

Last updated: दिसम्बर 7th, 2018 by Raniganj correspondent