Monday Morning News Network
You can Print this page with "Control" + "P" Button of your Window or whatever method of your operating system

कोयला लोडिंग विवाद : बीसीसीएल द्वारा ही ट्रक पर कोयला लोडिंग की मांग

विगत 19 नवंबर से कोयला लोडिंग के लिए उत्पन्न समस्या के समाधान के लिए गुरुवार को जिला प्रशासन, बीसीसीएल तथा इंडस्ट्रीज एंड कॉर्मर्स एसोसिएशन (आईसीए) के प्रतिनिधियों की बैठक अपर जिला दंडाधिकारी विधि व्यवस्था राकेश कुमार दुबे की अध्यक्षता में समाहरणालय सभागार में संपन्न हुई।

बैठक में आईसीए के प्रतिनिधि अमितेश सहाय ने बीसीसीएल के सेल्स एवं मार्केटिंग विभाग द्वारा 26 फरवरी 2011 को जारी पत्र संख्या बीसीसीएल/एस एंड एम/एसए/एफ-प्राइसिंग/11/916 का हवाला देते हुए कहा कि उपरोक्त पत्र बीसीसीएल के सभी क्षेत्र के महाप्रबंधक, सभी एरिया सेल्स मैनेजर तथा सभी एरिया फाइनेंस मैनेजर को संबोधित कर प्रेषित किया गया था।

पत्र के पृष्ठ संख्या 4 के प्वाइंट 5 (जे) में स्पष्ट अंकित किया गया है कि “ऊपर दी गई कीमत या तो फ्रेट ऑन रोड या फ्रेट ऑन बोर्ड हो सकती है”।

श्री सहाय ने कहा कि यह पत्र स्पष्ट रूप से संकेत देता है कि डीओ लगाने वालों को बीसीसीएल द्वारा ही ट्रकों पर कोयला लोड करा कर देना है क्योंकि जब उद्यमी कोयला का डीओ लगाते हैं तो उसमें लोडिंग का चार्ज भी संलग्न रहता है।

उन्होंने प्रश्न उठाते हुए कहा कि जब बीसीसीएल कोल उद्यमियों से कोयला लोड कराने का पैसा ले रहा है तो बीसीसीएल ही उद्यमियों को कोयला लोड करा कर दें।

अमितेश सहाय के प्रश्न पर बैठक में उपस्थित बीसीसीएल के जीएम सेल्स ने कहा कि उन्हें इस पत्र की जानकारी नहीं है। फिर भी हम इसकी तहकीकात करेंगे। यदि यह सही है, तो हम उद्यमियों को कोयला लोड करा कर देंगे। वहीं सेल्स विभाग के मंडल जी ने कहा कि बीसीसीएल के उपरोक्त नोटिफिकेशन से हम सहमत हैं।

बैठक में कोयला लोडिंग की मजदूरी का भी मुद्दा उठा। जिस पर आईसीए ने कहा कि हम सरकार द्वारा निर्धारित मजदूरी को सीधे मजदूर के बैंक खाता में जमा करेंगे।

बैठक में उपस्थित आईसीए के अनिल सांवरिया ने कहा कि हम किसी भी कीमत पर कोयला लोड कराने के लिए रंगदारी नहीं देंगे। उन्होंने कहा कि अब गेंद प्रशासन के पाले में है। प्रशासन यह तय करें कि यहाँ के उद्योग चलते रहे या फिर उद्योगपति यहाँ से पलायन करें।

आज की बैठक में अपर जिला दंडाधिकारी विधि व्यवस्था राकेश कुमार दुबे, एसिस्टेंट लेबर कमिश्नर प्रदीप कुमार लकड़ा, एनफोर्समेंट अधिकारी एके तिवारी, बीसीसीएल के जीएम सेल्स कृष्णा बटुला, धनसार क्षेत्र के महाप्रबंधक, अमितेश सहाय, अनिल सांवरिया उपस्थित थे।

बैठक में यह भी तय किया गया कि अगली बैठक से पूर्व अपर जिला दंडाधिकारी विधि व्यवस्था की अध्यक्षता में श्रम विभाग के प्रदीप कुमार लकड़ा, एके तिवारी बीसीसीएल के कोलियरियों का दौरा करेंगे और वस्तु स्थिति का जायजा लेंगे।

अगली बैठक 4 जनवरी 2019 को निर्धारित

बैठक में निर्णय लिया गया कि अगली बैठक 4 जनवरी 2019 को अपराहन 4:00 बजे समाहरणालय सभागार में होगी। 4 जनवरी की बैठक में बीसीसीएल के जीएम सेल्स अमितेश सहाय द्वारा उपलब्ध डॉक्यूमेंट हो समझकर बैठक में उपस्थित होंगे। यदि उपरोक्त आदेश प्रभाव में रहा तो बीसीसीएल अब उद्यमियों को कोयला लोड करा कर देगा।

Subscribe Our YouTube Channel for instant Video Upload

Last updated: दिसम्बर 27th, 2018 by