पैच में ब्लास्टिंग से ग्रामीणों में आक्रोश, आश्वासन के बाद हुये शांत

ईसीएल खुट्टाडीह ओसीपी के बेलपहांडी पैच में ब्लास्टिंग के दौरान गाँव के एक घर का प्लास्टर गिरने की घटना के बाद गाँव वाले आक्रोशित हो गये। लेकिन महाप्रबंधक के साथ बैठक करने और ब्लास्टिंग में कम आवाज वाली बारूद प्रयोग करने एवं घर के छत की मरम्मत कराने तथा बाकी बचे लोगों के बैंक खाते में पुर्नवास की राशि जल्द भेजने का आश्वासन के बाद ग्रामीणों का आक्रोश शांत हो गया।

घटना के सबंध में बताया जाता है कि शनिवार को पैच में ब्लास्टिंग के दौरान माधव घोष के घर के छत का प्लास्टर बिस्तर पर गिर गया, बिस्तर पर कोई नहीं था इसलिये कोई घटना नहीं हुई। उसके बाद गाँव वालों ने पैच में जाकर ब्लास्टिंग बन्द करके कार्य ठप्प करा दिया और नारेबाजी करते हुये हर्जाना की मांग करने लगे। गाँव वालों को ओसीपी प्रबंधन ने बहुत समझाने का प्रयास किया और कहा कि घर की मरम्मत करा दिया जायेगा।

रविवार को दोपहर महाप्रबंधक एसके मुखोपाध्याय की अध्यक्षता में ओसीपी कार्यालय में गाँव वालों के साथ हुई बैठक में गाँव वालों ने ब्लास्टिक नहीं करने की बात कही और कहा कि जबतक पुनर्वासन नहीं हो जाता ब्लास्टिंग बन्द रहेगी। महाप्रबंधक ने गाँव वालों को साफ शब्दों में कहा कि माइनिंग में ब्लास्टिक ही जरूरी है, ब्लास्टिक होगी और जो क्षति हुई है उसको प्रबंधन के तरफ से करा दिया जायेगा।

जिन लोगों को बैंक खाते में राशि नहीं गयी है, वे अपनी कागज जमा करे, राशि भेज दी जायेगी और पुनर्वासन के लिये जमीन की अधिग्रहण गाँव वालों के सहमति से जब चाहे शुरू कर दिया जाएगा। गाँव वालों का कहना था कि हमलोग प्रबंधन के साथ है और ओसीपी के साथ पैच चालू रखने के पक्ष में है, लेकिन हमलोगों की भी मांगों को प्रबंधन पूरा करे।

आम सहमति बनने के बाद ब्लास्टिक शुरू हुआ। बैठक में डीजीएम प्रमोद कुमार, कार्मिक प्रबन्धक मंजूर आलम नजरुल इस्लाम, फनिद्र सिंह, अभियंता नेहाल अहमद सद्दाम समेत गाँव वालों के तरफ सुभाष घोष, गणेश कविराज, तरित चक्रवर्ती, पंचानन बाउरी समेत थाना के अधिकारी उपस्थित थे।

Subscribe Our Channel

Last updated: मार्च 17th, 2019 by Pandaweshwar Correspondent