हिंसक मोड़ ले चुका है आसनसोल लोक सभा चुनाव 

आसनसोल लोकसभा चुनाव अब हिंसक मोड़ ले चुका है। हिंसा की पहली शुरुआत वाम प्रत्याशी पूर्व विधायक गौरंगों चटर्जी पर हमले से हुयी । उसके बाद बाबुल सुप्रियो की रैली में भी कई बार अशांति फैलाने की कोशिश की गयी।  लेकिन इस बार बाबुल सुप्रियो के सैनिक काफी मुस्तैद थे और अशांति फैलाने वालों की अच्छी कुटाई कर दी। पलटवार करते हुये तृणमूल कार्यकर्ताओं ने भी भाजपा कार्यकर्ता के घर पर हमला कर काफी तोड़-फोड़ मचाया एवं एक पिटाई भी कर दी।  एक तृणमूल कार्यकर्ता आसनसोल जिला अस्पताल में इलाजरत है। भाजपा के कई कार्यकर्ता हिरासत में लिए जा चुके हैं जिसके खिलाफ बाबुल सुप्रियो, जिलाध्यक्ष लखन घुरुई , काफी समर्थकों के साथ डीएम कार्यालय के बाहर धरने पर बैठ गए ।

भाजपा कार्यकर्ता को जेल ले जाते हुये
injured-tmc-worker
घायल तृणमूल कार्यकर्ता

घायल भाजपा कार्यकर्ता

बाबुल सुप्रियो ने सफाई देते हुये एक वीडियो जारी किया है जिसमें उनका कहना है कि पिछले तीन चार दिनों से उनके चुनावी रैली में तृणमूल कार्यकर्ताओं द्वारा बाधा पहुंचाने की कोशिश की जा रही है । उनका काफिला जिस रूट से निकलता है उस रूट में “चौकीदार चोर है ” का बैनर लगा दिया जाता है , उनके घर के बाहर “चौकीदार चोर है ” का बैनर लगा दिया जाता है। उनका कहना है कि तृणमूल कॉंग्रेस जानबूझ कर भाजपा कार्यकर्ताओं को उकसाने की कोशिश कर रही है।  उनकी रैली में तृणमूल कार्यकर्ता ममता बनर्जी जिंदाबाद के नारे लगाते हुये घुस जाते हैं।  ज़ेड सेक्यूरिटी रहने के बाद भी कैसे तृणमूल कार्यकर्ता उनतक पहुँच जाते हैं। इस तरह की परिस्थितियाँ कई बार उत्पन्न की गयी ।

वीडियो से यह बात तो साफ है कि भाजपा भी तृणमूल के साथ दो-दो हाथ करने के लिए तैयार है। अपने वीडियो में उन्होने इन पूरी घटनाओं का जिम्मेवारी आसनसोल-दुर्गापुर पुलिस आयुक्त लक्ष्मी नारायण मीणा पर मढ़ा है और उनके तबादले की मांग की है ।   दो दिन पहले ही आसनसोल नगर निगम के मेयर सह पाण्डेश्वर विधायक जितेंद्र तिवारी ने भाजपा कार्यकर्ताओं को खुली चुनौती दी थी ।

कुल मिलाकर  यह बात तो अब स्पष्ट हो गया  है कि  आसनसोल लोकसभा चुनाव शांतिपूर्ण नहीं होने वाला है। अभी 12 दिन का चुनाव प्रचार बाकी है और अभी से ही जो शुरू हो गया है उसके आसार अच्छे नहीं दिख रहे ।


संवाददाता: ऋषि गुप्ता 

Subscribe Our YouTube Channel for instant Video Upload

Last updated: अप्रैल 14th, 2019 by News-Desk Asansol