बेटियों के लिए कॉलेज में सीटें घटा देने से नाराज छात्र नेता ने मुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री और राज्यपाल को लिखा खत

गोमो । एक तरफ “बेटी-बचाओ-बेटी पढ़ाओ” में सरकार करोड़ों रुपए खर्च कर रही है  तो दूसरी तरफ बेटियों के लिए कतरास महाविद्यालय में सीटें घटा दी गयी और बेटी के पढ़ने के अवसर को कम कर दिया गया जिसके खिलाफ अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के धनबाद जिला संयोजक सूरज सिंह ने मुख्य मंत्री, शिक्षा मंत्री एवं राज्यपाल महोदया को चिट्ठी लिखी है ।

सूरज सिंह ने चिट्ठी में लिखा कि कतरास महाविद्यालय, कतरासगढ बाघमारा और टुण्डी दो विधानसभाओं का एक मात्र सरकारी कॉलेज है, जहाँ इंटर आट्र्स की पढ़ाई होती है। इस महाविद्यालय में पढ़ने वाले अधिकतर छात्र-छात्राएँ मजदूर, किसान और पिछड़े वर्ग से आते है। इस महाविद्यालय में पढ़ने वाले छात्राओं की संख्या लगभग 70 प्रतिशत है।

उन्होने लिखा कि एक तरफ राज्य सरकार और केन्द्र सरकार बेटियों को शिक्षित बनाकर उनका स्वाभिमान को बढ़ाने के लिए बेटी बचाओ, बेटी पढाओं जैसे योजनाओं पर करोडो खर्च कर रही है। कतरास महाविद्यालय , कतरासगढ़ में इंटर आट्र्स के 900 सीटों को घटाकर 512 सीट कर झारखण्ड अघिविद्य परिषद, रांची गाँव की बेटियों के जीवन के साथ खिलवाड़ कर रही है, जो सरासर गलत है।

उन्होने आग्रह किया है कि बेटिओं के भविष्य को देखते हुए 512 सीटों को बढ़ाकर पुनः 900 सीट किया जाये ।

Last updated: जून 19th, 2019 by Nazruddin Ansari

हर रोज ताजा खबरें पढ़ने के लिए व्हाट्सऐप या ईमेल सबस्क्राइब कर लें
Whatsapp email
सबस्क्राइब कर चुके हैं तो यहाँ क्लिक करें
आपके मोबाइल में किसी ऐप के माध्यम से जावास्क्रिप्ट को निष्क्रिय कर दिया गया है। बिना जावास्क्रिप्ट के यह पेज ठीक से नहीं खुल सकता है ।